IMF क्या है? IMF ka full form क्या है?

आपने अक्सर समाचार पत्र, पत्रिका, किताबें या इंटरनेट पर “IMF” नामक इस शब्द को कई बार सुना होगा। हो सकता है आपको इसकी बारे मे थोड़ी बहुत जानकारी हो।

लेकिन IMF क्या है? साथही IMF ka full form क्या है? इसे लेकर आपके पास गहरी जानकारी नही है। इसके बारे ज्यादातर लोग वस इतना ही जानते है कि यह वित्यीय प्रबंधन से संबंधित एक अंतरराष्ट्रीय संगठन।

आपने कई चचो॔ मे अक्सर green list, या red list के बारे मे भी कई बार शुना होगा लेकिन आपको इन सबके बारे मे आपके पास ज्यादा जानकारी नही है।

चलिए कोई बात नही, इस लेख के माध्यम से आज हम IMF से जुड़ी सभी important जानकारी जुटा लेते है,जैसे कि यह कैसे और क्या काम करता है। इसका मुख्यालय कहा पर स्हित है और इसकी स्हापना कभ और किस मकसत के साथ किया गया था। तो आऐ सबसे पहले IMF क्या है? इसके बारे मे थोड़ासा करीब से जानलेते।

IMF क्या है?

International Monetary Fund जिसे संक्षेप मे IMF कहा जाता है , एक अंतर्राष्ट्रीय संगठन है जिसमें कुल190 सदस्य देश शामिल हैं।

इस संस्था के गठण के पिछे प्रमुख उद्देश्य वैश्विक मौद्रिक सहयोग को बढ़ावा देना था, जिसमे वित्तीय स्थिरता को सुरक्षित करने से लेकर, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को सुविधाजनक बनाना, रोजगार के नए नए अवसर पेटा करना और

उन्है बढ़ावा देना, सतन्त आर्थिक विकास के रास्ते तलासना और वैश्विक स्तर पर उनका संनचालन सहित कई ऐसी जरुरी काम शामिल था।

मुलत: अपने सदस्य देशों के बीच सहयोग, परामर्श और नीति समन्वय के सिद्धांतों के आधार पर इसका गठण किया गया था।

IMF ka full form क्या है?

दरसल IMF एक संक्षिप्त शद्ब है जिसका पुरा नाम है International Monetary Fund, और इसका मुख्य उद्देश्य वैश्विक आर्थिक संकट से निपटना है।

इसका इतिहास

इसकी स्थापना 1944 में ब्रेटन वुड्स सम्मेलन के दौरान की गई थी, जहां 44 देशों के नेता द्वितीय विश्व युद्ध के बाद के अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक ढांचे की स्थापना के लिए एकत्र हुए थे।

इस संगठन का मुख्य उद्देश्य वैश्विक मुद्रा संकट को रोकना और विनिमय दर स्थिरता को बढ़ावा देना था। जैसे-जैसे समय बीतता गया,

इस संगठन के कार्यक्षेत्र में विस्तार हुआ और इसमें आर्थिक कठिनाइयों का सामना कर रहे सदस्य देशों को वित्तीय सहायता और नीति सलाह प्रदान करना शामिल हो गया।

Read Also

Share market kya hai? शेयर बाजार कि पुरी जानकारी हिंदी मे

NIFTY क्या है? यह कैसे काम करता है?Nifty meaning in hindi

IMF कैसे और क्या काम करता है।

आईएमएफ की व्यापक सदस्यता है, अंतिम अपडेट के अनुसार 190 से अधिक सदस्य देश हैं। प्रत्येक सदस्य देश एक गवर्नर नियुक्त करता है, आमतौर पर उसके केंद्रीय बैंक का प्रमुख या वित्त मंत्री, जो आईएमएफ की वार्षिक बैठकों में भाग लेता है। सर्वोच्च निर्णय लेने वाली संस्था गवर्नर्स बोर्ड है, और दिन-प्रतिदिन के कार्यों की देखरेख कार्यकारी बोर्ड द्वारा की जाती है।

इसकी प्रमुख कार्यप्रणाली इस प्रकार हैं:

A). निगरानी:- आईएमएफ सदस्य देशों के आर्थिक स्वास्थ्य का नियमित आकलन करता है, राजकोषीय नीतियों, मौद्रिक स्थिरता और विनिमय दर व्यवस्था जैसे कारकों का विश्लेषण करता है।

B). वित्तीय सहायता:- आईएमएफ गंभीर भुगतान संतुलन संकट का सामना कर रहे सदस्य देशों के लिए अंतिम उपाय के ऋणदाता के रूप में कार्य करता है।

Read Also

Mutual Fund Kya hai? म्यूच्यूअल फण्ड मे निवेश कैसे करे

शेयर मार्केट कैसे सीखे? How to learn share market in hindi?

C). तकनीकी सहायता:- यह सदस्य देशों को तकनीकी सहायता और प्रशिक्षण प्रदान करता है, जिससे उन्हें अपने आर्थिक संस्थानों को मजबूत करने, शासन में सुधार करने और नीति-निर्माण क्षमताओं को बढ़ाने में मदद मिलती है।

D). अनुसंधान और विश्लेषण:- यह संगठन मौद्रिक नीति, राजकोषीय प्रबंधन, ऋण स्थिरता और वित्तीय स्थिरता सहित कई आर्थिक मुद्दों पर व्यापक अनुसंधान और विश्लेषण करता है।

इस प्रकार यह अस्वस्थ आर्थिक स्थितियों पर काबू पाने के लिए प्रभावी नीतियां विकसित करने में योगदान देता है।

Read Also

NEFT क्या है? NEFT फुल फॉर्म || NEFT meaning in hindi

MICR ka full form क्या है?(What is MICR)

वैश्विक अर्थव्यवस्था संकट में इसका महत्व:

A). संकट प्रबंधन:- इसके वित्तीय सहायता कार्यक्रमों ने, नीतिगत सलाह से पूरक, विभिन्न वैश्विक वित्तीय संकटों के प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है,

उदाहरण के तौरपर 1990 के दशक के अंत में पुरे एशिया गठीत होने बाले वित्तीय संकट और फिर इसके बाद दुवारा 2008 में घटने बाली वैश्विक वित्तीय संकट। इसी तरह की आर्थिक अस्थिरता को स्थिर करने, विश्वास बहाल करने और वैश्विक वित्तीय संकटों के प्रतिकूल प्रभावों को कम करने के लिए आईएमएफ दृढ़ संकल्पित होकर काम करता है।

B). आर्थिक स्थिरता को बढ़ावा देना:- निगरानी और नीति सलाह के माध्यम से, आईएमएफ देशों को कमजोरियों की पहचान करने और आर्थिक स्थिरता बनाए रखने के लिए आवश्यक सुधार लागू करने में मदद करता है।

इस प्रकार यह निवेशकों के विश्वास को बढ़ावा देता है, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) को प्रोत्साहित करता है और सतत आर्थिक विकास को बढ़ावा देता है।

Read Also

kyc kya hai? घर बैठे kyc कैसे करे?

म्यूचुअल फंड के नुकसान और फाएदे – निवेश से पहले जरुर जानले

C). वैश्विक शासन:- आईएमएफ आर्थिक और वित्तीय मुद्दों पर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के लिए एक मंच के रूप में कार्य करता है, जो सदस्य देशों को आम चुनौतियों पर चर्चा करने और उनका समाधान करने के लिए एक मंच प्रदान करता है।

इस बीच, यह वैश्विक आर्थिक नीतियों में समन्वय और सुसंगतता सुनिश्चित करने के लिए विश्व बैंक और विश्व व्यापार संगठन जैसे अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ भी सहयोग करता है।

Read Also

Net banking क्या है? नेट बैंकिंग कैसे करें? (Online Banking)

PayPal Kya Hai? PayPal पर अकाउंट कैसे बनाये?

आईएमएफ और विश्व बैंक के बीच क्या अंतर हैं?

IMFWORLD BANK
उद्देश्यविश्व की मौद्रिक प्रणाली की स्थिरता की देखरेख करता हैइसका उद्देश्य मध्यम-आय और निम्न-आय वाले देशों को सहायता प्रदान करके गरीबी को कम करना है
संरचनाएकल संस्था संरचनाइसमें दो संस्थान शामिल हैं: इंटरनेशनल बैंक फॉर रिकंस्ट्रक्शन एंड डेवलपमेंट (IBRD) और इंटरनेशनल डेवलपमेंट एसोसिएशन (IDA)
सदस्य देश190 सदस्य देश (2021 तक)189 सदस्य देश (2021 तक)
स्थापना1945 में ब्रेटन वुड्स समझौते के हिस्से के रूप में स्थापितद्वितीय विश्व युद्ध के बाद एक विकास संगठन के रूप में स्थापित
फोकासएक स्थिर मौद्रिक प्रणाली को बनाए रखनागरीबी कम करना
कार्यरणनीतियों और नीतियों की देखरेख करता है, बेहतर अर्थव्यवस्था के लिए सुझाव देता हैविकासशील देशों को वित्तीय और तकनीकी सहायता प्रदान करता है
कर्मचारीलगभग 2,300 स्टाफ सदस्य, जिनमें अधिकतर अर्थशास्त्री हैं7,000+ का स्टाफ
मुख्य लक्ष्यवित्तीय स्थिरता और अंतर्राष्ट्रीय व्यापारगरीबी में कमी और सतत आर्थिक विकास

Read Also

Bitcoin क्या है? बिटकॉइन की पूरी जानकारी हिंदी में

Cryptocurrency क्या है? यह कैसे काम करता है?

Razorpay kya hai? कैसे और क्या काम करता है?

Conclusion

“अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष” वैश्विक मौद्रिक सहयोग के लिए परिचित है, जिसका मुख्य कार्य वैश्विक वित्तीय स्थिरता, आर्थिक विकास और व्यवस्था को बनाए रखना है। चूंकि दुनिया लगातार बदलती परिस्थितियों के साथ आर्थिक संकट का सामना कर रही है, आईएमएफ निश्चित रूप से उभरते मुद्दों को संबोधित करने और अंतरराष्ट्रीय आर्थिक समस्याओं से निपटने में बड़ी भूमिका निभा रहा है।

FAQs


Q). IMF का प्रधान कार्यालय कहाँ स्थित है?

A). “अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष” का मुख्यालय वाशिंगटन डी.सी., संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित है। आईएमएफ की सड़क के उस पार एक-दूसरे से सटी हुई दो इमारतें हैं: मुख्यालय 1, 720 19वीं स्ट्रीट पर स्थित है, और मुख्यालय 2, वाशिंगटन, डीसी में 1900 पेंसिल्वेनिया एवेन्यू पर स्थित है।

Q). आईएमएफ का निर्माण किसने किया?

A). इसकी स्थापना 1944 में ब्रेटन वुड्स सम्मेलन में हुई थी, जो ब्रेटन वुड्स, न्यू हैम्पशायर, संयुक्त राज्य अमेरिका में हुआ था। सम्मेलन का उद्देश्य द्वितीय विश्व युद्ध के बाद अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक सहयोग के लिए एक रूपरेखा तैयार करना था।

Q). क्या भारत आईएमएफ का सदस्य है?

A). निश्चित रूप से, भारत अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष का सदस्य है। वर्तमान उपलब्ध जानकारी के अनुसार, इसमे कुल 190 सदस्य देश हैं और भारत उनमें से एक है

Q). भारत IMF में कब शामिल हुआ?

A). भारत 27 दिसंबर, 1945 को आईएमएफ के मूल सदस्यों में से एक के रूप में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष में शामिल हुआ।

About The Author

Author and Founder digipole hindi

Biswajit

Hi! Friends I am BISWAJIT, Founder & Author of 'DIGIPOLE HINDI'. This site is carried a lot of valuable Digital Marketing related Information such as Affiliate Marketing, Blogging, Make Money Online, Seo, Technology, Blogging Tools, etc. in the form of articles. I hope you will be able to get enough valuable information from this site and will enjoy it. Thank You.