Google EAT Kya Hai?Google EAT Algorithm In Hindi? EAT खोज परिणामों के लिए कई नया नुस्खा नहीं है।यह वेबसाइटों के मूल्यांकन ओर गुणवत्ता परीक्षन के लिए 2018 में Google द्वारा लागू कि गई एक शब्दावली है।कुछ संवेदनशील YMYL विषयों पर आधारित Webpages के Content की प्रासंगिकता को जाँचने के इरादे से लागू किया गया यह  Google का एक Algorithm है। 

चलिए Google EAT Kya Hai इसके वारे मे थोरी सी Detail मे जानकारी लेते है।

Google EAT का अपडेट Kya Hai?

जुलाई 2018 में Google ने EAT नामक algorithm के जरिए अपने गुणवत्ता रेटर दिशानिर्देशों को अपडेट किया। इस बदलाव में यह कहा गया है कि, YMYL विषय,खास कर चिकित्सा संबंधित विषयों पर विश्वसनीयता बनाए रखने के लिए उस परआधारित Content चिकित्सा विशेषज्ञों द्वारा ही लिखे जाने चाहिए।लंबे समय के बाद, Google की इस अपडेट से YMYL विषय संबंधित Websites पर खास कर चिकित्सा विषयों से जुडे sites पर भारी असर परा है। इन विषयों से जुडे sites कि Ranking धीरे-धीरे SERP पर मे से नीचे गटने लगे।

Google EAT kya Hai?

EAT KYA HAI दरअसल, EAT GOOGLE का एक संक्षिप्त अनुवाद है।यह विशेषज्ञता – प्राधिकरण – भरोसेमंदता जैसे शब्दो पर आधारित है। 

EAT का पुरा अर्थ:- 
E- EXPERTISE.
A- AUTHORITATIVENESS.
T-TRUSTWORTHINESS.

GOOGLE ने YMYL आधारित वेबसाइटों के मूल्यांकन के लिए तीन मुख्य स्तंभों की पहचान की है, जो कि CONTENT के गुणवत्ता, CONTENT लेखक कि गुणवत्ता और संवेदनशील CONTENT प्रासंगिकता पर आधारित हैं। GOOGLE अपनी शीर्ष सूची से परिणामों का अध्ययन या मूल्यांकन करके खोजकर्ताओं को परिणाम प्रस्तुत करता है।

EAT का मूल्यांकन कैसे किया जाता है?

Google आपने गुणवत्ता दिशानिर्देशों में कुछ दिलचस्प सुझाव दिए हैं, जिन्हें एक महत्वपूर्ण सुझाव माना जाना चाहिए।

Google कहता है कि हर रोज़ विशेषज्ञत वाले लोग, भले ही किसी के पास अपने ऑनलाइन विषय में कोई औपचारिक योग्यता नहीं है, फिर भी वे प्रासंगिक अनुभव होने पर भी किसी क्षेत्र में विशेषज्ञ हो सकते हैं। Google द्वारा दिया गया एक उदाहरण यह कहता है कि फोटोग्राफी या गिटार बजाने जैसे शौक के बारे में लिखने के लिए, आपको कॉलेज की कई डिग्री या डिप्लोमा की आवश्यकता नहीं है, लेकिन आपको उन विषयों पर उच्च स्तर की विशेषज्ञता की आवश्यकता है। आमतौर पर, विशेषज्ञता, अधिनायकत्व और भरोसेमंदता समान अवधारणाएं हैं- लेकिन यह हमेशा समान नहीं होता है। इसलिए, वे अलग-अलग मानदंडों  का उपयोग करके स्वतंत्र रूप से मूल्यांकन करता हैं।

Expertise:

विशेषज्ञता का मतलब किसी विशेष क्षेत्र में उच्च स्तर का ज्ञान या कौशल होना है। इसका मूल्यांकन मुख्य रूप से Content के स्तर पर किया जाता है, वेबसाइट या संगठनात्मक स्तर पर नहीं। Google हमेशा विषय को  विशेषज्ञ द्वारा बनाई गई Content की तलाश करता है।

YMYL के विषय Content निर्माता की औपचारिक विशेषज्ञता, योग्यता और शिक्षा पर भी आधारित है। उदाहरण के लिए, एक चार्टर्ड अकाउंटेंट टैक्स तैयारी के बारे में लिखने के लिए दूसरों की तुलना में अधिक योग्य है।औपचारिक विशेषज्ञता YMYL  विषयों जैसे चिकित्सा, वित्तीय या कानूनी सलाह के लिए महत्वपूर्ण है।

गैर-YMYL विषयों के लिए, यह जीवन का अनुभव और रोजमर्रा की विशेषज्ञता को प्रदर्शित किया जा सकता है। कुछ विषयों में कम औपचारिक विशेषज्ञता की आवश्यकता होती है।Google के हिसाब से, अगर Content बनाने वाले व्यक्ति के पास विषय पर “विशेषज्ञ” होने के लिए विशेष अनुभव है, तो Google इस रोजमर्रा की विशेषज्ञता को भी महत्व देता है।इन क्षेत्र में औपचारिक शिक्षा या प्रशिक्षण कि आवश्यकता नहीं होती है।

Google यह भी कहता है कि कुछ YMYL विषयों के लिए रोजमर्रा की विशेषज्ञता ही पर्याप्त है। उदाहरण के लिए, “कैंसर होने पर कैसा महसूस होता है” जैसी कोई क्वेरी पर वर्षों कि अनुभव के साथ एक योग्य चिकित्सक की तुलना में इसका जवाब , बीमारी से जूझ रहा व्यक्ति अपना अनुभव बेहतरी से बता सकता है।

Authoritativeness:

यह विशेष रूप से अन्य विशेषज्ञों और उद्योग में प्रभाव डालने वालों के बीच कि प्रतिष्ठा के बारे में है । Google YMYL साइट को किसी विषय पर, उसके प्राधिकरण को जानकारी के स्रोत में देखता हैं।

Authoritativeness का मूल्यांकन करने के लिए, रैटर वेबसाइट या व्यक्ति की प्रतिष्ठा आकलन के लिए वेब पर खोज करता हैं।

वेबसाइट या व्यक्ति की प्रतिष्ठा के शोध के लिए, साथ ही विशेषज्ञों को जाचने के लिए  वेबसाइट के बारे में व्यक्तियों द्वारा दिए  गई समीक्षाओं, Comments, विशेषज्ञों द्वारा सिफारिशों,  लेखों और अन्य विश्वसनीय जानकारी के उपर EAT स्कोर निर्भर करता है।प्रतिष्ठा की जानकारी के लिए Google उन स्रोतों को खोजने का प्रयास करता है
जो वेबसाइट, कंपनी या स्वयं द्वारा लिखे या बनाए ना गए हो। विकिपीडिया (Wikipedia) इस प्रकार कि जानकारी का एक अच्छा स्रोत है, जिसका उल्लेख Google ने भी कई बार किया है।

Trustworthiness:

ट्रस्ट, वेबसाइट और इसकी Content की वैधता, पारदर्शिता और सटीकता के बारे में है।

रैटर्स भरोसेमंदता का मूल्यांकन करने के लिए कई चीजों की तलाश करते हैं, जिसमें यह भी शामिल है। यह YMYL प्रश्नों के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है, लेकिन यह गैर-YMYL प्रश्नों पर भी लागू होता है।

YMYL वेबसाइटें उच्च स्तर के भरोसे की मांग करता हैं, इसलिए उन्हें आमतौर पर इस बारे में संतोषजनक जानकारी की आवश्यकता होता है ओर  साइट की Content के लिए कौन जिम्मेदार है इसकी जानकारी भी आवश्यकता होता है।Site Admin से संपर्क करने के लिए पर्याप्त जानकारी का होना भी  महत्वपूर्ण है, खासकर YMYL विषयों और ऑनलाइन स्टोर के लिए।

यदि किसी स्टोर या वित्तीय लेन देन की वेबसाइट पर सिर्फ एक ईमेल पता और भौतिक पता है, तो लेन-देन के मुद्दे होने पर सहायता प्राप्त करना मुश्किल हो सकता है। इसी तरह, कई अन्य प्रकार की YMYL वेबसाइटों को भी उपयोगकर्ता के विश्वास को वनाए रखने के लिए High Security System की आवश्यकता होती है।EAT का रैटर्स भी Content की सटीकता को ध्यान में रखते हुये आपना काम करता हैं।समाचार लेखों और सूचना पृष्ठों के लिए,  तथ्यात्मक रूप से सटीक होनी चाहिए और विशेषज्ञ द्वारा आम सहमति या समर्थित होनी चाहिए है।ओर फिर,भरोसेमंद स्रोतों का हवाला देना भी इसी का हिस्सा है।

EAT कितना Important है?

यदि आप अपने बजट के अंदर एक डिजिटल कैमरा खोज रहे हैं, तो EAT यहा कई भी Factor नहीं होता है। अगर आप देखते हैं कि, डिजिटल कैमरा आपके बजट के साथ पर्याप्त नहीं है तो यह कई बहुत बड़ी बात नहीं है।

पर,अगर आप किसी  बीमारी से पीड़ित है या फिर अनलाईन पर कई कानूनी सलाह खोज रहे है, तो इस मामले में EAT के निस्संदेन बहुत महत्वपूर्ण है। यदि Google को एक क्लूलेस लेखक द्वारा लिखे गए किसी विशेष से जुड़े Content SERP पर लाता है, जो एक अविश्वसनीय वेबसाइट पर प्रकाशित किया गया है जिसमें प्राधिकरण की भी कमी है, तो उस तरह के Content से गलत या भ्रामीत होने की संभावना अधिक हौ सकता है।यहां खोज की जा रही जानकारी की प्रकृति को देखते हुए, यह कोई आम बात नहीं है बल्कि यह खतरनाक है।

Google इन प्रकार के विषयों को YMYL के category मे जगह देता है क्यों की कुछ  webpages या विषय किसी व्यक्ति के भविष्य की खुशी, स्वास्थ्य, वित्तीय स्थिरता या सुरक्षा को प्रभावित कर सकता हैं ओर आगे चलके कई बड़ी हादसा का कारन भी वन सकता है।अगर, आपकी साइट भी YMYL विषयो से संबंधित है , तो EAT का प्रदर्शन आपके लिए भी बहुत जरूरी है।

क्या EAT एक रैंकिंग Factor है?

क्या आप इस बात को लेकर उलझन में है की क्या EAT एक रैंकिंग factor है या नही? चलिए इसे भी समझलेते है।Google का गुणवत्ता रेटर दिशानिर्देश यह स्पष्ट करता हैं कि , खोज परिणामों का मूल्यांकन करते समय संवेदनशील YMYL विषयों पर Google पूरा ध्यान देता है। ये वेबमास्टरों को एक संकेतक प्रदान करता हैं कि अगर कई Webpage YMYL  विषयों पर कुछ जानकारी Provide करता हैं तो Google पेहली नजरमे उनकी Content को देखते समय खास ध्यान देता है।

हालांकि, Google विशेषज्ञों ने बार-बार कहा है कि EAT खुद अकेला एक रैंकिंग कारक नहीं है।अब सवाल यह उठता है कि आखिर YMYL Pages की रैंकिंग फैक्टर किस पर निर्भर करता है?शायद इसका सबसे स्पष्ट जबाव आपके pages के बैकलिंक्स की संख्या है।

क्योंकि Google के Crawler हमेशा वेब को दूर-दूर तक क्रॉल करता है ताकि वे जान सकें कि आपकी साइट के अधिकांश Pages पर कितने बैकलिंक्स इंगित कर रहा हैं। ईन सबमे Google ईतना माहिर है कि, आसानी से वे सबसे High Quality वाले Backlink के Pages को रैंक करता है।आप कंप्यूटर को EAT के साथ Pages को रैंक करने के लिए नहीं कह सकते, क्योंकि यह केवल Algorithms को समझता है।

जैसा की पहले भी बताया गया कि, रैंकिंग के लिए EAT अकेला कारक नही होता है। रैंकिंग कारक होने के लिए ऐसा कुछ स्पष्ट होना चाहिए जो कंप्यूटर आसानी से समझ और मूल्यांकन कर सके।Google के खोज इंजीनियर हमेशा ऐसी एल्गोरिथ्म के बारे में सोचते रहते है, ताकि खोज परिणामों मे गुणवत्ता बड़ा सुधार हो सके।

EAT किस YMYL विषय के लिए प्रासंगिक है?

Google आपके पैसे या आपके जीवन(YMYL – Your Money Your Life)से जुडे खोजों का वर्णन कुछ अलग तरीके से करता है। Google इन कीवर्ड पर उच्च गुणवत्ता मानकों को लागू करता है, क्योंकि नकली या फिर गलत जानकारी उपयोगकर्ता के स्वास्थ्य, वित्त, खुशी और सुरक्षा के लिए विनाशकारी परिणाम ला सकता है।

YMYL मे शामिल विषयों मे से कुछ विषय उदाहरण के तौर पर  यहाँ नीचे दिए गई है:
महत्वपूर्ण समाचारों, व्यवसाय, राजनीति, विज्ञान या प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्र, ताजा घटनाओं के बारे में लेख, खेल और मनोरंजन समाचारों जैसी विषयों पर YMYL लागू होते हैं।

कानून और नागरिक समाज: 

चुनाव, सार्वजनिक संस्थानों या गर्भपात, गोद लेने के अधिकार जैसे विषयों पर कानूनी सलाह ओर बहस आदि pages YMYL मे शामिल विषयों मे से है।

वित्त: 

निवेश, कर, ऋण, बैंकिंग या बीमा जैसे वित्तीय मुद्दों पर सलाह YMYL के श्रेणी में शामिल है।

स्वास्थ्य: 

चिकित्सा विषय जैसे दवा, बीमारी, अस्पताल आदि की जानकारी।

लोगों के समूह: 

नस्ल संबंधी मुद्दों, जातीय और धार्मिक समूहों, यौन संबंधित ओर लिंग संबंधित  जानकारी भी इसमे शामिल है।

अन्य: 

किसी व्यक्ति के जीवन या कल्याण के लिए महत्वपूर्ण कई अन्य विषय भी YMYL के रूप में शामिल किया जा सकता है। इनमें फिटनेस और पोषण संबंधी मुद्दों, नौकरी की खोजों  या विश्वविद्यालय के प्लेसमेंट से संबंधित साइटें भी इसमे शामिल हो सकते हैं।

YMYL Site कि EAT स्कोर केसे बड़ाये?

इस खंड में, हम Google पर गुणवत्ता मापक दिशानिर्देशों में EAT के मानदंड क्या कहते हैं, इस पर बारीकी से विचार करेंगे। क्वालिटी रैटर्स के लिए Google का सुझाव, पेज क्वालिटी (PQ) का मूल्यांकन करते समय यह है कि उन्हें पहले “पेज के असली उद्देश्य” को समझने का प्रयास करना चाहिए। इस उद्देश्य की उनकी व्याख्या के आधार पर, उन्हें Content, Content निर्माता और पृष्ठ की विशेषज्ञता, प्राधिकरण और विश्वसनीयता का मूल्यांकन करना चाहिए।

स्वास्थ्य: 

उच्च EAT स्कोर प्राप्त करने के लिए, स्वास्थ्य सम्बंधित Content को विशेषज्ञ चिकित्सकया  चिकित्सा विज्ञान से जुडे लोगों या संगठनों द्वारा ही बनाया जाना चाहिए ओर इसे समय समय पर समीक्षा और update भी किया जाना चाहिए।

समाचार: 

उच्च श्रेणी के समाचार लेखकों को गुणवत्ता वाले पत्रकारिता के पेशेवर मानकों को पूरा करना चाहिए और घटनाओं को पाठको के निकट बेहतर ढंग से पेस करने चाहिए। EAT पर अच्छी स्कोर बनाए रखने के लिए प्रकाशित समाचार स्रोतों की जानकारी और संपादकीय दिशानिर्देशों का पालन किया जाना चाहिए।

विज्ञान:

ऐसी वेबसाइटें जो वैज्ञानिक विषयों पर जानकारीया Provide कराता हैं, तो इस संबंधित Content उसी पृष्ठभूमि वाले लोगों या संगठनों द्वारा ही बनाई जानी चाहिए, और उन मुद्दों पर स्वीकृत वैज्ञानिक सहमति प्रस्तुत करनी चाहिए जहां ऐसी सहमति मौजूद है।

वित्त(Finance):

वित्तीय, कानूनी ,कर(TAX)संबंधित सलाह, या उन जैसे  विषयों पर जानकारी,देने वाले लोगो को एक उच्च EAT स्कोर प्राप्त करना चाहिए यदि ओर Webpage कि  विश्वसनीयता के स्रोतों को नियमित रूप से बनाए रखा जाना चाहिए।

उपभोक्ता मार्गदर्शिकाएँ(Consumer guides):

E-A-T स्कोर उच्च गुणवत्ता वाले उपभोक्ता गाइडों के लिए बहुत जरूरी है।जैसे की, घरेलू नवीकरण जैसे मुद्दों से संबंधित Content है।इन्हें विशेषज्ञों द्वारा ही लिखा जाने चाहिए या उन विश्वसनीय स्रोतों द्वारा समर्थित होना चाहिए जिन पर उपयोगकर्ता भरोसा कर सकें।

आखिरक मे:

अब तक इस लेख के माध्यम से हमने जाना की Google EAT Kya Hai? इसके अलावा, Google का EAT एल्गोरिथ्म कैसे काम करता है, और Google, EAT का मूल्यांकन कैसे करता है?

मुझे उम्मीद है कि आप इस लेख के माध्यम से Google EAT Kya Hai से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त किय हैं। इस तरह की अंतहीन जानकारी पाने के लिए इस ब्लॉग की सदस्यता लें और नियमित रूप से हमे Follow करें।

About The Author

BISWAJIT

Hi! Friends, this is Biswajit, the founder and author of 'DIGIPOLE HINDI'. He is interested in gathering valuable information related to digital marketing, such as affiliate marketing, blogging, earning money online, SEO, Adsense, technology, SEO tools, etc, and conveying the people in the form of articles.

Author:- I hope you will be able to get enough valuable information from this site and enjoy it. Thank you.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *