5G Network क्या है? 5G पाँचवीं पीढ़ी की उन्नत वायरलेस नेटवर्क तकनीक है जहाँ “G” पीढ़ी को संदर्भित करता है।सामान्न तौर पर, मोबाइल तकनीक की पहली पीढ़ी, आवाज़ के बारे में था।

जोकि हमे घर से दूर रहते हुए फ़ोन की उपयोग से लोगो से बातचित कराने मे सक्षम था जिसे हम 1G या “first generation”मोबाइल तकनीक के तौर पर जानते है।

उभरती तकनीकि विकाश के चलते देखते ही देखते 2G ने दस्तक दी जोकि आवाज़ के साथ साथ लघु-संदेश भेजने मे हमे सक्षम बनाया।

वही 3जी के आगमन ने स्मार्टफोन की उपियोग के लिए आवश्यक नेटवर्क और गति प्रदान की। फिर बारी आया 4जी एलटीई ‘4G LTE’ की जिसने अपनी उच्च डेटा-हस्तांतरण क्षमता के साथ, हमें मोबाइल वीडियो तक की पहुंच प्रदान की

और साथही कई उपकरणों को एक साथ जौड़ने का काम किया, जिसका उपयोग आज हम करते हैं।

लेकिन अब अगली पीढ़ी की और भी उन्नत वायरलेस नेटवर्क तकनीक यानि 5G Network तकनीक कई गुणा ताकत के हमे दसतक दे रहा है।

आगे हम 5G network तकनीक के बारे मे विस्तार से जानने का प्रयास करेंगे साथही ये भी जानेंगे की ये कैसे काम करता है? तो हमारे साथ बने रहे और इस लेख को पुरा पढ़ै।

5G Network क्या है?

5G पाचवीं पीढ़ी की आधुनिक और उच्च गति कि मोबाइल नेटवर्क है। यह 1G, 2G, 3G और 4G नेटवर्क का अगला संस्करण है। 5G का यह नया संस्करण कई सारे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को बेहतर और उच्च प्रदर्शन के साथ एकसाथ जोड़ने मे सक्षम बनाएंगे।

5G वायरलेस तकनीक उच्च मल्टी-जीबीपीएस डेटा स्पीड और, लो लेटेंसी के साथ, बड़े पैमाने पर नेटवर्क क्षमता, और अधिक उपलब्धता प्रदान करने के लिए है। मोटे तौर पर , यह उपयोगकर्ता के अनुभव को सशक्त बनाने और नए-नए उद्योगों को जोड़ने का काम करेंगे।

5G नेटवर्क के फाएदे

पांचवीं पीढ़ी का वायरलेस (5G) सेलुलर प्रौद्योगिकी का नवीनतम आविष्कार है, जिसे वायरलेस नेटवर्क की गति को बढ़ाने के लिए इंजीनियर द्बारा विकशित किया गया।

5G के साथ, वायरलेस ब्रॉडबैंड कनेक्शन पर प्रसारित डेटा मल्टीगैबिट कि गति से काम कर सकता है। 5G कि संभावित गति 20 गीगाबिट प्रति सेकंड (Gbps) के आसपास होने की अनुमान है।

5G और 4G तकनीक के गति के विच अन्तर कि बात कि जाए तो, यहा 4G की चरम गति केवल 1 Gbps तक है, बही 5G की सैद्धान्तिक गति 20 Gbps है।

5G को लेकर वादा है की ये व्यावसायिक अनुप्रयोगों के साथ-साथ अन्य डिजिटल कार्यक्रमो जैसे ऑनलाइन गेमिंग, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और सेल्फ-ड्राइविंग कार आदि के प्रदर्शन में बड़ी सुधार ला सकता है।

यह उम्मीद की जाती है कि 5G की अधिक उपलब्ध बैंडविड्थ और उन्नत एंटीना तकनिक के कारण वायरलेस सिस्टम पर प्रसारित होने वाले डेटा की मात्रा में वृद्धि लाऐगा। इसी तरह ये Wi-Fi उपकरणो को भी और अधिक शक्ति प्रदान करेगा।

5G नेटवर्क कैसे काम करता है?

वायरलेस संचार प्रणालियाँ हवा के जरिए सूचनाए ले जाने के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी का उपयोग करता हैं, जिसे स्पेक्ट्रम कहा जाता है।

5G भी उसी प्रणालियो को फलो करता है, लेकिन फरक इतना है कि ये उच्च रेडियो फ्रीक्वेंसी का इस्तेमाल करता है,और बहुत ही तेज गति से अधिक जानकारीया ले जाने मे सक्षम है।

इस उच्च बैंडों को ‘मिलीमीटर तरंगें’ याफिर (mmwaves) भी कहा जाता है।क्योकि वे काफी हद तक दुर्गम और महंगे थे इसलिए इनका उपियोग पहले नही किया गया था। लेकिन अब इसे नियामकों द्वारा लाइसेंसिंग के लिए खोल दिया गया।

हलांकी उच्च बैंड सूचना ले जाने में तेज़ होते हैं, लेकिन इसके साथ एक समस्या ये थी कि इससे बड़ी दूरी तए करने में कठिनाइ आ सकते थे। क्योकि वे पेड़ों और बड़े इमारतों जैसी भौतिक वस्तुओं द्वारा आसानी से अवरुद्ध हो जाते हैं।

इस चुनौती से निपटने के लिए, 5G वायरलेस नेटवर्क में संकेतों और क्षमता को बढ़ाने के लिए कई इनपुट और आउटपुट एंटीना का उपयोग किया गया।

इस प्रौद्योगि मे छोटे ट्रांसमीटरों का भी उपयोग किया गया। एक अनुमान के तहत 5G 4G की तुलना में प्रति मीटर की दुरी तक 1,000 से भी अधिक उपकरणों को एकसाथ जौड़ने में सक्षम होगा।

5G नेटवर्क तकनीक एक भौतिक नेटवर्क को कई वर्चुअल नेटवर्क को टुकड़ो में बाटने में भी सक्षम होगा। इसका मतलब ये है कि ऑपरेटर नेटवर्क को उपयोगकर्ताओ कि जरुरत के आधार पर उनमे सही टुकड़ा बाटने में सक्षम होंगे।

हलांकी, यह इस बात पर निर्भर करता है कि इसका उपयोग कैसे किया जा रहा है। इसका मतलब ये है कि, ऑपरेटर महत्व के आधार पर विभिन्न और इस तरह अपने नेटवर्क का बेहतर प्रबंधन कर सकेंगे।

इसका मतलब है, उदाहरण के लिए, एक ऑपरेटर महत्व के आधार पर इसकी क्षमताओं को बाटने में सक्षम होगा। उदाहरण के लिए, वीडियो स्ट्रीमिंग चलाने वाला कोई व्यक्ति आपने व्यवसाय के लिए एक अलग टुकरे का उपयोग करेगा,

जबकि एक साधारण उपयोगकर्ता को अधिक जटिल और मांग वाले अनुप्रयोगों से अलग किया जाऐगा। जैसेकि एक स्वायत्त वाहन के नियंत्रित करने बाले मामलो मे अधिक क्षमता प्रदान किया जाऐगा।

5G और 4G नेटवर्क के बीच प्रमुख अंतर क्या हैं?

सेलुलर प्रौद्योगिकी की हर एक पीढ़ी अपनी डेटा पहुचाने कि गति और एन्कोडिंग प्रणाली में भिन्न होता है, जिसके लिए उपयोगकर्ताओं को अपने हार्डवेयर को अपग्रेड करने की जरुरत होती है।

4जी 2 Gbps(Megabits per second) तक सपोर्ट कर सकता है और धीरे-धीरे आपनी गति में सुधार करता है। 3जी की तुलना में 4जी की स्पीड करिब 500 गुना ज्यादा तेज है, वही 5जी 4जी से 100 गुना के करिब तेज हो सकता है।

4G और 5G के बीच मुख्य अंतर विलंबता का है, जो 5G मे ये विलंबता बहुत ही कम होगा। हालाँकि, 5G भी 4G LTE (Long Term Evolution) के तरह ही OFDM (orthogonal frequency-division multiplexing) एन्कोडिंग का उपयोग करेगा।

लेकिन, यहा 4G, 20 MHz चैनलों का उपयोग करता है, जो 160 MHz पर एक साथ बंधे होते है वही 5G 100 से 800 मेगाहर्ट्ज चैनलों के बीच होगा, जिसके लिए 4G की तुलना में 5G के एयरवेव्स के बड़े ब्लॉक की आवश्यकता होती है।

कौन से फोन 5G नेटवर्क के लिए उपलब्ध हैं?

हलांकी, कुछ लोगो का मानना है कि 4G फ़ोन पर ही अलग से हार्डवेयर का कोई टुकड़ा जोड़कर और सॉफ़्टवेयर को अपडेट कर उसे 5जी के लिए सक्षम वनाए जा सकता है।

लेकिन, जहातक मेरी जानकारी है 5G network का उपयोग करने के लिए एक खास हार्डवेयर की आवश्यकता होगी जोकि खासकर 5G network का उपयोग करने के लिए वनी होंगी।

5G नेटवर्क को सपोर्ट करने बाले अबतक बनाय जाने बाले फ़ोन के कुछ नाम यहा दिया गया हैं: जैसेकि

  • सैमसंग गैलेक्सी ए90 5जी
  • सैमसंग गैलेक्सी नोट 10+ 5जी
  • सैमसंग गैलेक्सी एस10 5जी
  • Xiaomi एमआई मिक्स 3 5G
  • हुआवेई मेट एक्स
  • हुआवेई मेट 30 प्रो 5जी
  • मोटो जेड3
  • वनप्लस 7 प्रो 5जी

5G Wireless Network Services के प्रकार?

मुख्य रूप से नेटवर्क ऑपरेटर दो तरह की 5जी सेवाओं पर काम कर रहे हैं:

1. 5G फिक्स्ड वायरलेस ब्रॉडबैंड सेवाएं: जो बिना वायरलेस कनेक्शन के घरों और व्यवसायों तक इंटरनेट पहुंच प्रदान करेगी। उसके लिए, नेटवर्क ऑपरेटर NRs को (5G न्यू रेडियो, या 5G NR, मानकों का एक सेट है जो LTE नेटवर्क 4G वायरलेस संचार मानक को प्रतिस्थापित करता है।

5G NR का एक मुल लक्ष्य इमारतों के पास छोटे सेल साइटों केलिए समर्थ करना है) एक छत पर या एक खिड़की के सिले पर एक रिसीवर को तेनात करना होता है जो परिसर के भीतर बढ़ाया गया हो।

घरों और व्यवसायों को ब्रॉडबैंड कि निरंतर सेवाएं पहुचाने मे ऑपरेटरों के लिए फिक्स्ड ब्रॉडबैंड सेवाएं कम खर्चीली होने की उम्मीद है, क्योंकि यह हर निवास स्थान पर फाइबर ऑप्टिक लाइनों की आवश्यकता को समाप्त करता है।

इसके बजाय, ऑपरेटरों को केवल सेल साइटों पर ही फाइबर ऑप्टिक्स को स्थापित करने की जरुरत होता है, और इस तरह ग्राहक अपने घरों या व्यवसायों में एक स्थित वायरलेस मोडेम के जरिए ब्रॉडबैंड सेवाएं प्राप्त कर सकते हैं।

2. 5G सेलुलर सेवाएं: जो उपयोगकर्ताओ को ऑपरेटरों के 5G सेलुलर नेटवर्क तक पहुंच प्रदान करता हैं। ये सेवाएं 2019 में शुरू हुईं जब पहले 5G-सक्षम डिवाइस अस्तित्व में आए जो व्यावसायिक रूप से उपलब्ध थे।

जो कि सेलुलर सेवा वितरण 3GPP (The 3rd Generation Partnership Project जोकि – दूरसंचार संघों के एक समूह के बीच एक सहयोगी परियोजना है) द्वारा मोबाइल कोर मानकों के पूरा होने पर निर्भर है।

भारत में 5G वायरलेस नेटवर्क सेवाओं की स्थिति

COVID-19 महामारी के कारण भारत में 5G वायरलेस नेटवर्क सेवाओं के रोलआउट में देरी हुई है। दूरसंचार विभाग (DoT) ने राष्ट्रीय दूरसंचार नीति (NTP) का मसौदा प्रकाशित किया है जो देश में 5G परिनियोजन के लिए दिशानिर्देशों की रूपरेखा तैयार करता है। इस नीति में 2022 तक 5जी सेवाओं को शुरू करने के उद्देश्य से 2021 में 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी का प्रस्ताव है।

सरकार ने 5जी नेटवर्क के लिए स्पेक्ट्रम की उपलब्धता, आवश्यकताओं और मूल्य निर्धारण को देखने के लिए एक अंतर-मंत्रालयी समिति भी गठित की है। हालाँकि, 5G सेवाओं का वास्तविक रोलआउट स्पेक्ट्रम की उपलब्धता और NTP को अंतिम रूप देने पर निर्भर करेगा।

हलांकी इस विच अच्छी खवर ये है कि, DoT के अनुसार , 5G कनेक्टिविटी 2 से 3 वर्षों के अन्दर सस्ती दरो पर पूरे भारत में फैल जाने की अनुमान है।

Reliance Jio द्वारा साझा की गई एक रिपोर्ट के अनुसार,मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली दूरसंचार कंपनी दिसंबर 2023 तक भारत भर में 5G सेवाओं को शुरू करने का लक्ष्य लेकर चल रही है।

वही Airtel का लक्ष्य 2022 के अंत तक सभी प्रमुख मेट्रो शहरों में 5G सेवाएं प्रदान करने कि है। दुसरि ओर पैन इंडिया ने इसके लिए 2024 तक का लक्ष रंखा है।

Conclusion

आने वाले दिनों में 5G network उपयोगकर्ताओ को अधिक तेज और बेहतर प्रदर्शन उपलब्ध कराएगा। ये डेटा स्रोतों के बीच तेज़ और कुशल डेटा लेनदेन प्रदान करेगा।

यह सामाजिक, वाणिज्यिक और वैज्ञानिक क्षेत्रों में उन्नत और तीव्र विकास का एक महत्वपूर्ण स्रोत होगा। 5G अपनी हाइब्रिड नेटवर्किंग क्षमताओं के कारण तेज गति और बेहतर उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करेगा।

5जी तकनिक आने वाले दिनों में कुछ ऐसे फीचर्स लाएगा जो अत्याधुनिक तकनीक को और तेज करेंगे और उपयोगकर्ता को अधिक आराम और आनंद प्रदान करेंगे।

5जी नेटवर्क आपनी स्केलेबिलिटी के साथ और उन्नत नेटवर्क-आधारित सामाजिक सेवाएं प्रदान करेगा। इसके अलावा, 5G iOS के लिए बेहतर स्पीड और सपोर्ट प्रदान करेगा। 5जी technology एक विश्वव्यापी नेटवर्क बनाएगा और उपयोगकर्ताओं को विभिन्न तरिको से और सुलभ सेवाएँ प्रदान करेगा।

5G Network के बारे में और अधिक जानने के लिए आप qualcomm.com को बिजिट कर सकते हैं।

About The Author

Author and Founder digipole hindi

Biswajit

Hi! Friends I am BISWAJIT, Founder & Author of 'DIGIPOLE HINDI'. This site is carried a lot of valuable Digital Marketing related Information such as Affiliate Marketing, Blogging, Make Money Online, Seo, AdSense, Technology, Blogging Tools, etc. in the form of articles. I hope you will be able to get enough valuable information from this site and will enjoy it. Thank You.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *