LED ka full form क्या है? जैसा कि हम जानते हैं बिजली की खोज दुनिया की सबसे बड़ी खोज मानी जाती है। इसकी खोज के बाद रोशनी के लिए इसका उपयोग बड़े पैमाने पर होने लगा।

आप यह भी जानते होंगे कि शुरुआती दिनों में बिजली की रोशनी के लिए एकमात्र उपकरण फिलामेंट बल्ब था, जिसकी बाहरी परत गोलाकार कांच से ढकी होती थी और लंबे समय तक यह रोशनी का प्रमुख स्रोत बनी रही।

लेकिन बदलते समय के साथ नई तकनीकें विकसित होती गईं और सीएफएल तकनीक विद्युत प्रकाश के स्रोत के रूप में उभरी, जिसके बारे में आपने भी देखा, पढ़ा या सुना होगा।

लेकिन अब जमाना इससे काफी आगे निकल चुका है और अब इनकी जगह LED ने ले ली है।

तो इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि LED क्या है? LED ka full form क्या है? यह कैसे काम करता है और लाइटिंग के अलावा इसका उपयोग और कहां किया जाता है।

इसलिए हमारे साथ बने रहें और इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें ताकि आपको एलईडी से जुड़ी सारी जानकारी मिल सके।

LED क्या है?

दरअसल, यह एक semiconductor device है जिसमें विद्युत धारा प्रवाहित करने पर प्रकाश उत्सर्जित होता है।

पारंपरिक तापदीप्त बल्बों या फ्लोरोसेंट रोशनी के विपरीत, एलईडी प्रकाश उत्पन्न करने के लिए फिलामेंट को गर्म करने या गैस डिस्चार्ज पर निर्भर नहीं होते हैं।

वे इलेक्ट्रोल्यूमिनसेंस नामक एक प्रक्रिया का उपयोग करते हैं जहां semiconductor material के भीतर इलेक्ट्रॉन electron holes के साथ पुनः संयोजित होते हैं, और प्रकाश के रूप में ऊर्जा जारी करते हैं –

Read Also

LCD क्या है?LCD ka full form क्या है?Liquid Crystal Display

Compiler क्या है? Compiler और Interpreter में क्या अंतर है?

यहां एलईडी के बारे में कुछ प्रमुख विशेषताएं दी गई हैं:

➤वे भारी मात्रा में डोप किए गए पी-एन जंक्शन हैं, और उनका संचालन semiconductor material में इलेक्ट्रॉनों और holes के पुनर्संयोजन पर आधारित है, जो फोटॉन के रूप में ऊर्जा जारी करता है।

➤एलईडी द्वारा उत्सर्जित प्रकाश का रंग semiconductor material के बैंड गैप को पार करने के लिए इलेक्ट्रॉनों के लिए आवश्यक ऊर्जा से निर्धारित होता है।

➤वे धारा को आगे की दिशा में प्रवाहित होने देते हैं और धारा को विपरीत दिशा में अवरुद्ध कर देते हैं।

➤उत्सर्जित प्रकाश को बाहर आने की अनुमति देने के लिए उन्हें एक पारदर्शी आवरण से ढक दिया जाता है।

➤ऐसे प्रकाश अपनी ऊर्जा दक्षता के लिए जाने जाते हैं, क्योंकि वे incandescent light bulbs की तुलना में 90% तक अधिक कुशलता से प्रकाश उत्पन्न कर सकते हैं।

LED ka full form क्या है?

LED का फुलफॉर्म लाइट एमिटिंग डायोड है। प्रकाश उत्सर्जक डायोड (एलईडी) एक अर्धचालक उपकरण है, जो विद्युत प्रवाह गुजरने पर प्रकाश उत्सर्जित कर सकता है।

यह प्रकाश उत्पन्न करने के लिए p-type semiconductors के छिद्र n-type semiconductors के इलेक्ट्रॉनों के साथ पुनः संयोजित होते हैं। उत्सर्जित प्रकाश की तरंग semiconductor material के बैंडगैप पर निर्भर करती है।

Read Also

System software क्या है? कैसे काम करता है और इसके प्रकार

Computer Network क्या है?कैसे काम करता है?नेटवर्क के प्रकार

LED कैसे काम करता हैं ?

डायोड इलेक्ट्रोल्यूमिनसेंस के सिद्धांत पर काम करते हैं जहां semiconductor material के भीतर इलेक्ट्रॉनों की गति प्रकाश उत्पन्न करती है।

एलईडी कैसे काम करती है इसकी सरल व्याख्या यहां दी गई है:

Semiconductor Material: एलईडी अर्धचालक सामग्री से बने होते हैं, आमतौर पर आवर्त सारणी के समूह III और V के तत्वों का संयोजन, जैसे गैलियम, आर्सेनिक और फास्फोरस।

P-N Junction: एलईडी में अर्धचालक सामग्री के भीतर दो क्षेत्र होते हैं: पी-प्रकार क्षेत्र और एन-प्रकार क्षेत्र। पी-प्रकार क्षेत्र में धनात्मक रूप से आवेशित “छिद्रों” की अधिकता है, जबकि एन-प्रकार क्षेत्र में ऋणात्मक रूप से आवेशित इलेक्ट्रॉनों की अधिकता है।

Electron Movement: जब एलईडी पर आगे वोल्टेज लगाया जाता है, तो एन-प्रकार क्षेत्र से इलेक्ट्रॉन और पी-प्रकार क्षेत्र से छेद दोनों क्षेत्रों के बीच जंक्शन की ओर बढ़ते हैं।

Recombination: जंक्शन पर, इलेक्ट्रॉन और छिद्र पुनः संयोजित होते हैं, जिससे फोटॉन (प्रकाश) के रूप में ऊर्जा निकलती है। फोटॉन ऊर्जा उत्सर्जित प्रकाश का रंग निर्धारित करती है।

Energy Band Gap: एलईडी में प्रयुक्त अर्धचालक सामग्रियों का विशिष्ट संयोजन ऊर्जा बैंड गैप को निर्धारित करता है, जो उत्सर्जित प्रकाश की तरंग दैर्ध्य (रंग) निर्धारित करता है।

Efficiency: एलईडी अत्यधिक कुशल हैं क्योंकि वे पारंपरिक तापदीप्त बल्बों की तुलना में अधिक गर्मी पैदा किए बिना, विद्युत ऊर्जा को सीधे प्रकाश ऊर्जा में परिवर्तित करते हैं।

Read Also

Cloud Storage क्या है? और कितने प्रकार के होते है?

PayPal Kya Hai? PayPal पर अकाउंट कैसे बनाये?

एलईडी तकनीक के लाभ:

Energy efficiency: वे बहुत ऊर्जा-कुशल हैं, विद्युत ऊर्जा के एक महत्वपूर्ण हिस्से को गर्मी के बजाय प्रकाश में परिवर्तित करते हैं। वे पारंपरिक प्रकाश प्रौद्योगिकियों की तुलना में न्यूनतम ऊर्जा की खपत करते हैं, जिसके परिणामस्वरूप पर्याप्त ऊर्जा बचत होती है।

Long Lifespan: आम तौर पर वे अत्यधिक लंबे समय तक चलने वाले होते हैं, आमतौर पर लगभग 50,000 से 100,000 घंटे तक, जो उन्हें विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में उपयोग के लिए आदर्श बनाता है। साथ ही वे रखरखाव और प्रतिस्थापन जैसी लागतों को भी कम करते हैं।

Durability: इसकी संरचनाएं कठोर परिस्थितियों का सामना करने के लिए बनाई गई हैं जो उन्हें अत्यधिक टिकाऊ बनाती हैं। वे कंपन, झटके और तापमान में उतार-चढ़ाव के प्रतिरोधी हैं।

Flexibility: एल ई डी को आसानी से मंद या चमकीला किया जा सकता है, जिससे प्रकाश के स्तर का सटीक नियंत्रण संभव हो जाता है। यह बहुमुखी प्रतिभा इसे विभिन्न उपकरणों में उपयोग के लिए उपयुक्त बनाती है।

Read Also

Software kya hai? सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है?

Hardware Kya Hai? हार्डवेयर कितने प्रकार के होते हैं?

एलईडी के प्रयोग क्या हैं?

एलईडी के अनुप्रयोग:

इसकी बहुमुखी प्रतिभा और दक्षता के कारण इसे विभिन्न उद्योगों और अनुप्रयोगों के लिए व्यापक रूप से अपनाया गया है। इसके कुछ उल्लेखनीय उपयोगों में शामिल हैं:

Lighting: एलईडी बल्बों का उपयोग अब आमतौर पर आवासीय, वाणिज्यिक और सड़क प्रकाश व्यवस्था के लिए किया जा रहा है। यह पारंपरिक प्रकाश विकल्पों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन, दीर्घायु और बेहतर रोशनी देता है।

Displays: उनकी जीवंत और उच्च-विपरीत प्रकृति उन्हें इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों, विज्ञापन बोर्डों, स्टेडियम स्क्रीन और डिजिटल साइनेज में डिस्प्ले के लिए आदर्श बनाती है।

Automotive Lighting: कार हेडलाइट्स, टेललाइट्स और इंटीरियर लाइटिंग सहित ऑटोमोटिव लाइटिंग में इसका बड़े पैमाने पर उपयोग किया जा रहा है।

इसका उपयोग रात में सड़कों पर अंधेरा दूर करने से लेकर सुरक्षा प्रदान करने वाले क्लोज सर्किट कैमरे तक होता है।

Backlighting: एलईडी बैकलाइटिंग एलसीडी और ओएलईडी डिस्प्ले के लिए मानक बन गई है, जिससे टेलीविजन, कंप्यूटर मॉनिटर और स्मार्टफोन में पतली और अधिक ऊर्जा-कुशल स्क्रीन सक्षम हो गई है।

Read Also

Web server क्या है? यह कैसे काम करता है? Web server in Hindi

IP Address kya hai?कितने प्रकार के होते हैं?और कैसे पता करे?

Cryptography Kya Hai? What is Cryptography in Hindi?

Cloud Computing in Hindi | क्लाउड कंप्यूटिंग क्या है?

What is vpn in hindi | vpn क्या है? कैसे काम करता है?

CDN क्या है?यह कैसे काम करता है?CDN जरुरी क्यों है?

DNS क्या है?(DNS in hindi) यह कैसे काम करता है?

Google का मालिक कौन है?और ये किस देश का है?

Razorpay kya hai? कैसे और क्या काम करता है?

5G Network क्या है और कैसे काम करता है?

GPS Kya Hai? और यह कैसे काम करता है?

About The Author

ratna nath content creator ai digipole hindi

Ratna Nath

You are a computer hardware & networking engineer, studied at Agartala (India), and interested in collecting the latest updates on science & technology and sharing information with people. Also, you have deep knowledge of Blogging, web page designing, SEO, and WordPress. Visit my profile ( Facebook , YouTube)

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *