Data Encryption Kya Hai? encryption meaning in Hindi?जब से आईटी तकनीक का विकाश हुया है, तव से डेटा का सुरक्षा एक प्रमुख चिंता का विषय बना हुया है। क्योंकि टेक्नोलॉजी के विकास के साथ-साथ ऑनलाइन डेटा चोरी जैसी घटनाएं भी काफी बढ़ गई हैं।इसि लिए प्रत्येक व्यक्तिगत और व्यावसायिक संगठन हमेशा अपनी महत्वपूर्ण डेटा या सूचनाओं को सुरक्षित रखने के लिए तत्पर रहता है। 

हाल ही में Hacking और डेटा उल्लंघन जैसी घटनाएं आम सा होता जा रहा है ।ईहा तक कि, आपके कंप्यूटर या हार्ड-ड्राइव पर संग्रहीत डेटा भी अब सुरक्षित नहीं रहा है। ऐसे मे , डेटा एन्क्रिप्शन एक ऐसी तकनीक हे जिसकी मदद से आप अपनी महत्वपूर्ण डेटा या सूचनाओं को सुरक्षित रख सकते ओर डेटा Hacking कि इस तस्वीर में वदलाव ला सकते है।लेकिन इसके लिए पेहले encryption meaning in Hindi और Encryption Kya Hai?इसे जानना आपके लिए बहुत जरुरी है

encryption meaning in Hindi कि बात की जाए तो,आपके लिए यह जानना जरुरी है कि अगर कभी आप आपना पासवर्ड भूल जाते हैं या फिर किसी कारन और को आपके पासवर्ड के वारे पता चल जाता है, तब आपकी संरक्षित कि हुइ डेटा हमेशा के लिए खो सकता है। इस तरह की स्थितियों के लिए आपको हमेशा अपने डेटा कि बैकअप को तैयार रखने की जरुरी है। 

तो,आज कि इस लेख के जरिए हम encryption meaning in Hindi, इसकी प्रक्रिया और डेटा एन्क्रिप्शन के प्रकारों के वारे मे जानने कि कोशिश करेंगे ओर साथ ही डेटा एन्क्रिप्शन तकनीक कि मदद से केसे आपने  महत्वपूर्ण डेटा को सुरक्षित रख सकते है ईसके वारे मे भी जानने कि कोशिश करेंगे।

 Encryption Meaning in Hindi:-

एन्क्रिप्शन, महत्वपूर्ण डेटा और जानकारी को एक अपठनीय, एन्कोडेड संस्करण में परिवर्तित करने की एक डिजिटल प्रक्रिया है जिसे केवल डिक्रिप्शन Key कि मदद से केवल अधिकृत व्यक्ति द्वारा पढ़ा जा सकता है। एन्क्रिप्शन व्यापक रूप से उपयोग किया जाने वाला एक सुरक्षा उपकरण है जो संवेदनशील डेटा को तीसरी किसी भी व्यक्ति की घेराबंदी से रोकता है, चाहे यह किसी फाइलों में संग्रहीत हो या नेटवर्क में किसी ट्रांज़िशन के दौरान।

encryption meaning in hindi
encryption meaning in hindi

Encryption एक ऐसी प्रक्रिया है जोकि कइ भी पाठ, फ़ाइलें, डेटाबेस, पासवर्ड, एप्लिकेशन या नेटवर्क पैकेट को एन्कोड करने के लिए डिजिटल Keys का उपयोग करता है, ताकि केवल उपयुक्त उपयोगकर्ता ही इसे डीकोड (डिक्रिप्ट) कर सके और देख, संशोधित या इसमे और कइ जानकारी जोड़ सके। एन्क्रिप्शन तंत्र डिस्क या अन्य स्टोरेज मीडिया को भी सुरक्षित रखने मे मददगार होता है।

सरकारी संस्थानो , स्वास्थ्य, वित्त, शिक्षा और कई अन्य संस्थानो में डेटा एन्क्रिप्शन अनिवार्य है। Federal Information Security Management Act (FISMA) रोगी की गोपनीय जानकारी को नियंत्रित करता है और Payment Card Industry Data Security Standard  (PCI DSS) क्रेडिट-कार्ड प्रोसेस के दौरान दिए गए सूचनाओ के सुरक्षा को नियंत्रित करता है। ये तो सिर्फ दो उदाहरण हैं इसके अलाबा भी कई ऐसे संस्थाने है जो आपनी जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए Encryption तकनिक का सहारा लेता है।

अब तक आप जान गेये होंगे कि Data Encryption Kya Hai? encryption meaning in Hindiचलिए आगे इसकी ईतिहस के बारे मे थोड़ी सी जानकारी लेते है

History of encryption in Hindi:-

Encryption शब्द वास्तव में एक ग्रीक अनुवादक शब्द है जो क्रिप्टोस से लिया गया है, जिसका अर्थ है छिपा ना। प्राचीन काल से ही एन्क्रिप्शन एक सुरक्षित संचार तकनीक रही है।

मिस्र(Egypt)के एक लेखक ने पहली बार इसका इस्तेमाल 1900 ईसा पूर्व में एक शीला लेख के अर्थ को छिपा ने के लिए किया था जब ज्यादातर लोग इसे नहीं पढ़ सकते थे, जब केवल एक संदेश लिखना लगभग पर्याप्त था। यह एन्क्रिप्शन रणनीति इस संदेश को एक स्थान से दूसरे स्थान पर सुरक्षित करने या गोपनीयता की रक्षा के लिए एक अपठनीय सुविधा की आवश्यकता के प्रश्न से उत्पन्न हुई है।

रोमनों (Romans) ने सीज़र शिफ्ट cipher के रूप में जाना जाने वाला एक monoalphabetic encripted cipher का इस्तेमाल किया था जिसमें प्रत्येक अक्षर को एक समान संख्या से स्थानांतरित किया गया था। इस तरह की cipher ,पहली नज़र में समझ पाना मुश्किल होता था। इसमे वर्णमाला की शुरुआत को तब तक जोड़ा जाता था जब तक न अक्षर समझ में आ जाएं। 

मध्यकालीन युग में बहुअक्षरीय Cipher Script का उदय हुआ, जो एक Cipher को क्रैक करने कि प्रक्रिया को सीमित करने के लिए कई प्रतिस्थापक वर्णों का उपयोग किया गया था। कई समस्याओं के बावजूद भी encryption का यह तरीका  काफी हद तक लोकप्रिय रहा।

यह 1970 के दशक के मध्य तक आते – आते  एन्क्रिप्शन तकनिक मे एक बड़ी छलांग आई है। इहा तक, आते – आते सभी Encryption योजनाओं ने एक डेटा को एन्क्रिप्ट और डिक्रिप्ट करने के लिए key तकनिक का उपयोग किया।

Encryption अब लगभग हर सरकारों और बड़े उद्यौगो द्वारा उपयोग किया जाने लगा है। key एक्सचेंज और RSA एल्गोरिदम के प्रकाशित होने के बाद से इसे पहलि वार PCs (Personal Computer) इहा तक कि Mobile Devices मे भी उपयोग किया जाने लगा है।

Modern Encryption in Hindi:-

आधुनिक Encryption का प्रोसेस एक उन्नत डेटा सुरक्षा तकनिक है।Cryptography की यह तकनिक पूरी तरह से गणितिक अल्गरिथोम , संख्या तथ्यो और कम्प्यूटेशनल अल्गरिथोम पर आधारित है।

इस तरह कि एन्क्रिप्शन सिस्टम में कई प्रकार के शक्तिशाली algarithoms शामिल होते हैं। यह एक संख्या, शब्द, वाक्यांश या कोई भी कोड हो सकता है जिसका उपयोग किसी भी Ciphertext कि जानकारी को plaintext में एन्क्रिप्ट और डिक्रिप्ट करने के लिए किया जा सकता है। इसने डेटा सुरक्षा के एन्क्रिप्शन तंत्र को दो नए तरीकों से पेश किया है। 

  • Symmetric key encryption.
  • Asymmetric key encryption.

Symmetric और Asymmetric key क्रिप्टोग्राफीक keys की संख्या और इन keys के काम करने के तरीके पर आधारित होता है। 

आइए इन दोनों के बारे में विस्तार से जानते हैं:

Symmetric key encryption.

Symmetric key encryption तकनीक एन्क्रिप्शन की एक सरल विधि का प्रयोग करता है। Symmetric और Asymmetric , इन दो तकनीकओं में से यह सबसे आसान तरीका है। Symmetric key encryption के मामले में, एन्क्रिप्शन केवल एक गुपन key के माध्यम से किया जाता है, और यह key दोनों पक्षों के लिए बना होता है। इसमे एक ही key जानकारी या डेटाको एन्कोडिंग और डीकोड दोनों के लिए लागू होता है। संदेश को भेजने से पहले Sender द्वारा संदेश को एन्कोडेड करने के लिए key का उपयोग किया जाता है, और फिर receiver की तरफ से, उसी key का उपयोग करके  संदेश को समझने के लिए डीकोड किया जाता है।

Data Encryption तकनीक के पुराने जमाने कि उदाहरण कि वात करे तो Caesar Cipher है। इसकी आधुनिक उदाहरण कुछ इस प्रकार हैं (RC4, QUAD, AES, DES, Blowfish, 3DES).

Asymmetric key encryption.

Asymmetric Encryption एक अलग एन्क्रिप्शन तकनीक है जिसमे दो keys का उपयोग किया जाता है। इस तरह कि तकनीक मे डेटा कि सुरक्षा के लिए दो cryptographic keys को एकीकृत किया जाता है।यह keys, public key और Private Key के नाम से जाना जाता है। public key, उन सभी के लिए होता है जो एक एन्क्रिप्टेड संदेश को भेजता हैं। दूसरी और Private Key का उपयोग receiver के द्वारा उस एन्क्रिप्टेड संदेश को Decrypt करने के लिए किया जाता है। Asymmetric key encryption algorithms के उदाहरण की बात कि जाए तो यह Diffie-Hellman और RSA algorithm हैं।

Types of  Data Encryption Algorithms in Hindi:-

कई तरह के डेटा encryption algorithms उपलब्ध हैं: इनमे से यह कुछ इस प्रकार हैं-

  • TripleDES
  • Twofish encryption algorithm.
  • Blowfish encryption algorithm.
  • Advanced Encryption Standard (AES).
  • IDEA encryption algorithm.
  • MD5 encryption algorithm.
  • HMAC encryption algorithm.
  • RSA security.

Importance of Data Encryption in Hindi:-

कई अलग-अलग प्रकार की सूचना को सुरक्षा देने में Data Encryption एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह निम्नलिखित प्रकार है:

  • गोपनीय संदेश को एन्कोड करता है।
  • डेटा प्रामाणिकता की पुष्टि करता है।
  • Data Integrity की रक्षा करता है।
  • Data Sender को एन्क्रिप्टेड संदेश को भेजे जाने से इनकार करने से रोकता है।

आइए आगे देखे कि,Data Encryption द्वारा हमे Kya – Kya Advantages प्रदान किए जाते Hai? और  Data Encryption के मुख्य लाभ Kya Hai?__

Advantage of encryption in Hindi:-

encryption meaning in Hindi,जैसा कि अब तक आप जान चुके होंगे कि,Encryption का उद्देश्य कंप्यूटर या इंटरनेट पर संग्रहीत Data या किसी अन्य कंप्यूटर नेटवर्क पर संचारित डिजिटल डेटा की गोपनीयता की रक्षा करना है।

उदाहरण के लिए, Credit/Debit या Payment Card Industry Data Security Standard (PCI DSS) के लिए ग्राहकों के Payment डेटा को एन्क्रिप्ट करता है, और इसे  संग्रहीत किया जाता है ओर फिर इसे Online पर सार्वजनिक किया जाता है।

हालाँकि,Cyber Crime अब दिनो-दिन बढ़ता जा रहा है, हमारे संवेदनशील डेटा अब ऑनलाइन Hacking का शिकार होता जा रहा है। क्योंकि हैकर्स हमेशा आपकी व्यक्तिगत जानकारी को जुटा कर वित्तीय लाभ कमाने की मौके कि तलाश मे रहते हैं। cyber attack लंबे समय से समस्या का कारन बना हुया है और साइबर अपराधी दिनो-दिन हमले तेज़ कर रहे हैं। 

ऐसे में, Encryption एक ऐसा तरीका हैं जिससे आप cyber attack के शिकार होने से बच सकते है या इसे कम कर सकते हैं। एन्क्रिप्शन तकनीक किसी भी डेटा की सुरक्षा के लिए प्रमुख तरीकों में से एक है। टेलीग्राफ पर उपयोग किए जाने वाले सरल कोड के रूप में शुरू हुआ, जो अब एक परिष्कृत कंप्यूटर एल्गोरिथम है। 

आइए Encryption द्वारा प्रदान किए जाने वाले मुख्य लाभों को देखते हैं__

  • ईमानदारी बनाए रखता है।
  • हर समय Data को सुरक्षा देता है ।
  • Multiple Devices में सुरक्षा प्रदान करता है।
  • गोपनीयता की रक्षा करता है।
  • यह ऑनलाइन अनु पालन का एक हिस्सा है।

Disadvantages of encryption in Hindi:-

अगर आप ऐसी फ़ाइलों से निपटते हैं जिनमें ऐसी जानकारी है जिसे आपको तीसरा किसी व्यक्ति से गुप्त रखने की जरुरत है, तो आप ईन्हें सुरक्षित रखने के लिए एन्क्रिप्ट कर सकते हैं। किसी फ़ाइल को एन्क्रिप्ट करने का एक फायदा यह है कि केवल वही व्यक्ति जो पासवर्ड को जानता है इसे खोलने में सक्षम होता है। हालाँकि, फ़ाइलों को एन्क्रिप्ट करने के कुछ नुकसान भी होते हैं जो कुछ इस प्रकार  हैं।

पासवर्ड का भूल जाना

फ़ाइलों को एन्क्रिप्ट करने का एक नुकसान यह है कि, अगर आप कभी अपना  पासवर्ड भूल जाते हैं, तो आप कभी भी आपने डेटा को पुनर्प्राप्त नहीं कर पाएंगे। और अगर आप ऐसे किसी पासवर्ड का उपयोग करते हैं जिसका अनुमान लगाना आसान है, तो फिर आपका एन्क्रिप्टेड डेटा कि सुरक्षा सबालो के घेरे मे है।

सुरक्षा की झूठी भावना विकसित करना

Encryption आम लोगों के लिए मुश्किल बडा हो सकता है, लेकिन कंप्यूटर Professionals और सॉफ्टवेयर developers कि प्रगति भविष्य में एन्क्रिप्टेड फ़ाइलों को अनलॉक करना एक बच्चों का खेल बना सकता है। एन्क्रिप्टेड फाइलों का एक नुकसान यह भी है कि ,आप आपनी फाइलों को सुरक्षित रखने के लिए आपको कभी-कभी झूठे भरोसे के सहारे रहना पड़ता है।

Encryption vs. decryption:-

एन्क्रिप्शन, जो संदेश को एन्कोड करता है, जोकि संदेश भेजने वाले के द्वारा किया जाता है। डिक्रिप्शन, एक अस्पष्ट संदेश को डीकोड करने की प्रक्रिया है, जोकि एक रिसीवर(receiver) के द्वारा किया जाता है।

Encryption का Use कहाँ किया जाता है?

Encryption का उपयोग आमतौर पर पैसे का लेन-देन से सम्बंधितमें डेटा को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है। जब कोई ATM का उपयोग करता है या स्मार्टफोन के साथ ऑनलाइन खरी-दारि करता है, तो उस जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए Data Encryption का उपयोग किया जाता है।Encryption तकनिक Data सुरक्षा के अलावा भी बहुत कुछ कर सकता है। इसका उपयोग Digital Signatures के रूप में Data की integrity और authenticity को साबित करने के लिए भी किया जा सकता है।

आपने नोटिस किया होगा , आपके द्वारा प्रमुख वेबसाइटों से किए जाने वाले अधिकांश कनेक्शन HTTPS द्वारा TLS /SSL Certificate, या आपके वेब ब्राउज़र के URL बार में एक Padlock icon के साथ Encrypt किया होया दिखाई परेगा। आपको शएद पता न हो ,आपके WhatsApp Data भी Encrypt किया होता हैं, और आपके फोन पर भी एक एन्क्रिप्टेड फ़ोल्डर रहता है।

आपके ईमेल भी OpenPGP जैसे प्रोटोकॉल के साथ एन्क्रिप्ट किया रहता है। ईहा तक कि VPN मे भी एन्क्रिप्शन का उपयोग करते हैं, और जो कुछ भी आप cloud में स्टोर करते हैं वह भी एन्क्रिप्टेड होता है। आप चाहे तो Encryption तकनिक का Use करके अपनी पूरी हार्ड ड्राइव को Encrypt कर सकते हैं और साथ ही आपने  वॉयस कॉल भी Encrypt कर सकते हैं।

कुलमिलाकर,हमारी जानकारी को सुरक्षित रखने और Data Hacking से वचने के लिए Internet पर बड़ी मात्रा मे Encryption का उपयोग किया जाता है। cryptocurrency wallets को सुरक्षित रखने का यह एक महत्वपूर्ण तरीका है। इसके अलावा भी कई और तकनीकों में इसका  उपयोग होता है।Encryption के बारे मे और गहराई से जानने के लिए wikipedia पर जाकर पड़ सकते है।

FAQ’s

Q).RSA full form in Hindi?

A). RSA का मतलब Rivest, Shamir, Adleman है और ये RSA एल्गोरिथम का निर्माता हैं। इसे  इंटरनेट पर सुरक्षित डेटा ट्रांसमिशन के लिए उपयोग की जाने वाली एक डेटा एन्क्रिप्शन तकनीक है।

Q).Plaintext और Ciphertext Kya Hai?

A). Plaintext किसी भी एन्क्रिप्शन एल्गोरिथम का इनपुट होता है। Ciphertext एक एन्क्रिप्शन एल्गोरिथ्म का अपठनीय और क्रिटिकल आउटपुट होता है। Plaintext वे पाठ होता है जिसे अब तक एल्गोरिथम द्वारा Ciphertext मे स्वरूपित नहीं किया गया है।

Q).Private Key Kya Hai?

A). private key डेटा को एन्क्रिप्ट और डिक्रिप्ट करने का एक डिजिटल तकनीकी key है। इस key कि मदद से एन्क्रिप्टेड डेटा को sender और  receiver के बीच सुरक्षा के साथ साझा किया जाता है। private key को symmetric भी कहा जाता है और यह क्रिप्टोग्राफी public key क्रिप्टोग्राफी  की तुलना में तेज़ है।

Q).Public Key Kya Hai ?

A).public key एक बड़ा गणितीय संख्या होता है जिसका उपयोग डेटा को एन्क्रिप्ट करने के लिए किया जाता है। ऐसी key को एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम द्वारा तैयार किया जाता है, लेकिन कई बार, यह किसी trusted authority , द्वारा Provide की जाती है और सार्वजनिक रूप से सभी को उपलब्ध कराई जाती है।

अंतिम शब्द:-

डेटा सुरक्षा पर आज  पूरी इंटरनेट दुनिया का फोकस बना हुया है। Data Encryption एप्लिकेशन और इसके प्रोटोकॉल मे से यह तय करना पुरी तरह आप पर निर्भर करता है कि, कौन सा एन्क्रिप्शन तकनीक आपके लिए बेहतर रहेगा।

encryption meaning in Hindi, कि संक्षेप को निकाले तो, एन्क्रिप्शन इंटरनेट पर गोपनीय डेटा साझा करने का एक सुरक्षित तरीका है। Data Encryption के विभिन्न प्रकार हे जिसे मेने आसान भाषा मे ईहा आपको समझा ने की कोशिश कि हैं। आपको एक और बात बतादे कि, आपकी जानकारी को प्रमाणित और मान्यता देने के लिए, आपके पास एन्क्रिप्शन प्रोटोकॉल और एप्लिकेशन इन दोनो का होना जरुरी है।

मुझे उम्मीद है कि इस लेख के माध्यम से, आप Data Encryption Kya Hai? encryption meaning in Hindiऔर डेटा सुरक्षा के पीछे कि विज्ञान को समझने में सक्षम हुये हैं और साथ ही आपने जाना कि सही तरसे एन्क्रिप्शन और प्रोटोकॉल का उपयोग कैसे  किया जा सकता है।

About The Author

BISWAJIT

Hi! Friends, this is Biswajit, the founder and author of 'DIGIPOLE HINDI'. He is interested in gathering valuable information related to digital marketing, such as affiliate marketing, blogging, earning money online, SEO, Adsense, technology, SEO tools, etc, and conveying the people in the form of articles.

Author:- I hope you will be able to get enough valuable information from this site and enjoy it. Thank you.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *