Artificial Intelligence Kya Hai? Artificial Intelligence Ke Kya Fayde Hai? आपने कृत्रिम बुद्धिमत्ता (AI) Artificial Intelligence शब्द के वारे मे सुने हौग़े । यह असल में क्या है? यह कहां उपयोगी है और इससे हमें कैसे लाभ मिलता है ? एसी कई और सवाल AI को लेकर दिमाग में उठते हैं। अगर आप AI के वारे मे Detail में जानने ओर शिखने मे रुचि रखते है तो फिर यह Article आपके लिए उपयोगी सावित हो सकता है।

इस लेख में, Al कि बुनियादी अवधारणाओं को आसान तरिको से समझने कि कोशिश कि गई है।तो  फिर ,ज्यादा लंबा ना खिचते हुए चलिए हम इसके के बारे में जानना शुरू करते हैं।

इस ट्यूटोरियल में AI पर सभी विवरणो को प्रस्तुत करने कि कोशिश कि गई है, जो आपको Artificial Intelligence के पीछे की अवधारणाओं को समझने में मदद करेगा। इस ट्यूटोरियल में, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के विभिन्न पहलुओं पर भी चर्चा की है, जैसे कि AI का इतिहास, AI के उपयोग, AI के संस्थापक,AI के प्रकार, AI के Kya Fayde और नुकसान Hai आदि।

Artificial Intelligence Kya Hai?AI ki full form.

AI Ki full Form Artificial Intelligence ओर short मे (AI) हौता हैयह मानव निर्मित एक एसी कृत्रिम बुद्धिमत्ता का विकास है जो मशीन को एक ज्ञानी, बुद्धि वाले  सपूर्ण मानव जैसे  सोचने-समजने और जिम्मेदार निर्णय लेने में सक्षम बनाता है। Artificial Intelligence (AI) को इस तरह से विकसित किया गया है की मशीन आपने पिछले ज्ञान के आधार पर, स्थिति के अनुकुल खुद को ढालने मे सक्षम होते है। क्या यह कई जादू है? नहीं, यह जादू नहीं है, यह विज्ञान है।

वास्तव में,Machine Learning तकनीक से, Machine को कंप्यूटर Language द्वारा मानव बुद्धि , मानव सोच और उसकी गतिविधि की नकल करने के लिए प्रोग्राम किया जाता है।

Artificial Intelligence Kya Hai?
Artificial Intelligence Kya Hai?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मशीन लर्निंग का ही एक sequel part है, जो मशीन या कंप्यूटर को मानव सहायता के बिना प्रोग्रामिंग के माध्यम से नए डेटा को स्वचालित रूप से सीखने और अनुकूलित करने में सक्षम बनाता है। इन तकनीकों के साथ, मशीन Big Data जैसे भारी मात्रा में डेटा प्रबंधन से लेकर, संरचनात्मक छवियों या वीडियो कि जाच-परख तक जैसे कठिन से कठिन कामो को बेहद सटीक और निपुणता से पुरा करता है।

सीधे शब्दों में कहें तो ,Artificial Intelligence (AI) एक ऐसी प्रणाली है, जहां मशीनें किसी भी Human Intervention के बिना ही किसी काम को अंजाम दे सकता हैं, मानवीय बुद्धिमत्ता की नकल कर सकता हैं और एकत्रित किए गए जानकारी के आधार पर खुद को लगातार सुधारता रहता हैं।

Founder And Father of Artificial Intelligence In Hindi.

Every feature of intelligence or learning aspects in principle can be so precisely described that a machine can seamlessly simulate it. – John McCarthy.

कृत्रिम बुद्धिमत्ता का शब्द पहली बार 1955 में जॉन मैकार्थी द्वारा गढ़ा गया था। बाद में उन्होंने 1956 में प्रसिद्ध डार्टमाउथ सम्मेलन में प्रकाश डाला। मैककार्थी के अलावा, 10 अन्य कंप्यूटर वैज्ञानिकों ने सम्मेलन में भाग लिया। John McCarthy (Dartmouth College), Marvin Minsky (Harvard University), Nathaniel Rochester (IBM), and Claude Shannon (Bell Telephone Laboratories). मैककार्थी ने इस बारे में जानकारी प्रस्तुत की कि एक मशीन मानव की तरह कैसे सीख और सोच सकती है।

वह हमेशा एक मशीन के आविष्कार में विश्वास करते थे जो मानव मस्तिष्क के समान विचारशील होगा और विभिन्न मानव व्यवहारों की नकल करके विभिन्न समस्याओं को सीखने और हल करने में सक्षम होगा।आखिके दिनो मे,मैकार्थी स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में प्रोफेसर थे और 2000 में सेवानिवृत्त हुए।

अंत में, कृत्रिम बुद्धि के पिता, जॉन मैकार्थी, 24 अक्टूबर, 2011 में 84 वर्ष की आयु में उनका निधन हो गया। प्रोफेसर और आविष्कारक, जॉन मैकार्थी ने पांच दशकों से अधिक समय से एआई के क्षेत्र को परिभाषित और हावी किया है।

History of Artificial Intelligence in Hindi.

सन 1940 और 1960 के दशक के बीच की अवधि को आम तौर पर तकनीकी विकास के समय के रूप में चिह्नित किया जाता है। इस अवधि के दौरान, विभिन्न तकनीकी अवधारणाएं सामने आईं। वैज्ञानिकों मे मशीन को जैविक  इंसान को जितना कुशल बनाने की इच्छा प्रकट होयी ओर फिर इस पर डेटा एकत्रीकरण शुरू हुआ। 1944 की शुरुआत में, दो वैज्ञानिकों, Warren McCulloch और Walter Pitts ने पहली बार जैविक न्यूरॉन (biological neuron) के गणितीय डेटा और कंप्यूटर मॉडल को तॆयार किया।

1950 के दशक की शुरुआत में, दो वैज्ञानिकों, John Von Neumann और Alan Turing ने Binary logic (0 या 1) की महत्वपूर्ण श्रृंखलाएं विकसित कीं और औपचारिक रूप से समकालीन कंप्यूटरों की वास्तुकला को पेश किया। उन्होंने साबित कर दिया कि प्रोग्रामिंग के माध्यम से एक मशीन को प्रभावी बनाया जा सकता है।

वैज्ञानिकों ने दशको से एक ऐसी  “thinking” Machine systems का सपना देखा जो कि बिलकुल मानव हस्तक्षेप से मुक्त हो। आखिरमे ,MIT (Massachusetts Institute of Technology) के Professor John McCarthy ने लंबे अध्ययन के बाद “AI” शब्द का उपयोग करते हुए  पहलि वार इसे सवके सामने प्रस्तुत किय़ा।जिन्हें Marvin Minsky (Carnegie-Mellon University) द्वारा कंप्यूटर प्रोग्राम के रूप में परिभाषित किया गया था जोकि आगे चलके धीरे-धीरे ओर अधिक संतोषजनक रूप से प्रदर्शन किया गया है। 

एक विशालकाय मशिनि घर से निकल कर आज कि इस आधुनिक Smart Device को हमारे जेब तक पौहचने मे करीबन पाच दशक का समय़ लगा है।

Artificial Intelligence के पीछे की सोच।

हलाकि,समय के साथ Al की परिभाषा अब बहुत हद तक बदल गई है, लेकिन मूल आधार हमेशा एक ही रहा है, जो मशीन निर्माण की अवधारणा की शुरुआत में आया था जो कि मशीनों को मनुष्यों की तरह सोचने में सक्षम बनाना।

मानब सभ्यता की शुरुआत से ही मनुष्य नियमित रूप से शोध और अध्ययन कर रहा है। हमारे आसपास की दुनिया को हमेशा अलग-अलग व्याख्या करने और नए अनुप्रयोगों के माध्यम से  अलग-अलग जानकारी इकट्ठा करने की कोशिश लगातर जारि रहा है। समय बीतने के साथ,मनुष्यमे विभिन्न विचार उभरे हैं ओर समय के साथ साथ मनुष्यों ने विभिन्न कौशल विकसित किए हैं। हालांकि, मशीनों के रूप में कंप्यूटर के आगमन ने मानव सभ्यता को एक अलग आयाम  दिया है।इसे बुद्धिमान बनाने के लिए शुरु हौय़ा एक अंतहीन प्रयास। अवधारणा मशीन को मानबबुद्धि से समृद्ध करना। इसके बाद ब्लूप्रिंट और आज की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट मशीन की शुरुआत हुई!

Types of Artificial Intelligence In Hindi.

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को विभिन्न श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है, लेकिन इसकी दक्षता और प्रभावशीलता के आधार पर इसे दो मुख्य श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है।

कैटागरी – १.

Weak AI:-

Narrow AI एक समर्पित काम को पुरा करने में सक्षम होता है। दुनिया भर में AI का सबसे आम उपयोग Narrow AI है।

Narrow AI अपने क्षेत्र में एक विशिष्ट कार्य को ही कर सकता है, क्योंकि यह केवल इसि के लिए ही प्रशिक्षित है।  यह कमजोर(weak AI) के रूप में भी परिचित है।

ई-कॉमर्स साइटो पर उपभोक्ताओं को सुझाव देना, गेम खेलना, सेल्फ-ड्राइविंग कारों, वॉयस रिकग्निशन, इमेज रिकॉग्निशन, फिंगरप्रिंट रिकॉग्निशन सिस्टम आदि weak AI या Narrow AI का सबसे आम उदाहरण है।

General AI:-

यह एक intellectual concept है जो किसी भी बौद्धिक कार्य को दक्षता के साथ कर सकता है जैसा कि एक मानव कर सकता है।General AI के विचार एक ऐसी होशियार प्रणाली को विकसित करना है जो अपनी क्षमता से एक सामान्य मानव की तरह सोच सके।लेकिन, आज तक ऐसी व्यवस्था General AI  को बढ़ावा देने के लिए मौजूद नहीं है।General AI के साथ ऐसी मशीन विकसित करने के लिए शोधकर्ता पूरी कोशिश कर रहे हैं।

Super AI:- 

इंटेलिजेंस सिस्टम की एक अगली-स्तरीय अवधारणा है Super AI,जो मशीनें मानव बुद्धि को बी मात दे सकता हैं और एक मानव से बी बेहतर प्रदर्शन कर सकता हैं।यह अपने आप से सोचने की क्षमता के साथ इतना सक्षम होगा कि, किसी भी महत्वपूर्ण काम को बहुत कुशलता से हल करने के लिए, सही निर्णय लेंने, योजना बनाने, सीखने, और खुद से communicate करने मे सक्षम होगा।आबी भी, Super AI आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की एक काल्पनिक अवधारणा है। ऐसी प्रणालियों के विकास  पूरी दुनिया को ही बदल सकता है।

कैटागरी – २.

Reactive Machines:-

Reactive machines की मूल विशेषता यह है कि, वे ‘यादों’ को संग्रहीत नहीं कर सकता और भविष्य की गतिविधियों को निर्धारित करने के लिए पिछले अनुभवों का उपयोग नहीं कर सकता । वे केवल वर्तमान स्थिति का अनुभव करता हैं और इस पर जवाब देते हैं।

1997 में, IBM के Deep Blue ने शतरंज के खिलारि ग्रैंडमास्टर Garry Kasparov को खेल मे हराया था। यह  Reactive machine AI का एक उत्कृष्ट उदाहरण है।

Limited Memory:-

इस प्रकार के Al मेमरी पिछले डेटा स्टोरेज के माध्यम से उस डेटा का कुशलता से उपयोग करके बेहतर भविष्यवाणियां करने में मदद करते हैं। हर मशीन लर्निंग मॉडल बनाने के लिए इस Limited memory की आवश्यकता होती है।

स्व-ड्राइविंग कारें, एआई की इस Limited memory का उपयोग करता हैं। वे  एकत्रित कि गई आंकड़ों का उपयोग करके त्वरित निर्णय लेने में सक्षम हैं। इस तरह कि स्व-चालन मे, एक सेंसर कि मदद से सड़क पर लोगों की आवाजाही को जाच कर फिर एक  बेहतर निर्णय लेने के लिए उपयोग करता है।

Theory of Mind:-

Theory of mind ,AI के यह सिद्धांत भावनाओं, विश्वासों, इच्छाओं, लक्ष्यों और दूसरों के इरादों – जैसे मानसिक स्थिति को समझने में सक्षम है। विभिन्न लोगों की विभिन्न भावनाओं को अलग कर अपने स्वयं के अनुबव से लोगों की भविष्यवाणी कर सकता है। इस तरह कि मशीन Development पर प्रयोगशाला में वैज्ञानिक लगातार शोध कर रहे हैं।

Self-Awareness:-

AI के संदर्भ में स्व-जागरूक(Self-awared),मशीनों का एक सिद्धांत है जिसमें मानव-स्तर की चेतना एवं जागरूकता हौगी ।हलाकि,वर्तमान समय में इसका कोई अस्तित्व नहीं है,यह सिर्फ एक सिद्धांत है। लेकिन निकट भविष्य में, यह हमारे लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ता का सबसे उन्नत रूप बन सकता है।

Examples Of Artificial Intelligence In Hindi.

आज, मानव विकास के विकास के लिए प्रौद्योगिकी एक अनिवार्य हिस्सा है। मानव अस्तित्व अब पूरी तरह से प्रौद्योगिकी पर निर्भर हैं। अल की मदद के बिना ह्यूमन सोसायटी पूरी तरह से ढह जाएगी।

१) ईमेल स्मार्ट स्पैमी फ़िल्टरिंग।
२) विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म जैसेFacebook,Twitter,
) Pinterest, Linkedin आदि की Proactive Detection 
    System.
४) Google के खोज इंजन एल्गोरिदम।
५) ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर उत्पाद की सिफारिशें,
६) मानचित्र की दिशाएँ।
७) मोबाइल बैंकिंग, नेट-बैंकिंग, धोखाधड़ी की पहचान और रोकथाम आदि।

ये सबी Al कि महत्वपूर्ण  उदाहरणो मे से कुछ हैं।

Artificial Intelligence क्यों जरूरी है?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) एक आधुनिक कंप्यूटर विज्ञान है। आधुनिक दुनिया में, कृत्रिम बुद्धि मानव जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गई है। हर दिन लोग AI के मदद से कइ ना कइ  जटिल काम को पुरा करता है। इसके invention ने  लोगो के काम को बहुत आसान  किए हैं ओर साथ ही  समय की बचत भी हो रहा है। उद्योग  क्षेत्र में, रोबोट बेहतरि से आपना  काम  कर रहा है और दैनिक उत्पादनो को बढ़ा रहा है। 

Artificial Intelligence Kya Hai?
 

दूसरे शब्दों में कहे तो, कृत्रिम बुद्धिमत्ता सभी मामलों में उसकी महारत का एक दशा॔  रहा है। आज कृत्रिम बुद्धि के उपयोग के बिना मानव सभ्यता के सुचारू रूप से चलने की कल्पना करना लगभग असंभव है।

एआई  न केवल हमारे विकास को गती देरहा है बल्कि हमें मशीन-लर्निंग के मदद से हमारे कार्यभार Work Load को भी कम  की है। कृत्रिम बुद्धिमत्ता हमारे काम मे होने बाले त्रुटि की मात्रा को कम करता है। यह कम समय में सटीक ओर बेहतर  परिणाम देता है। आधुनिक दुनिया में, कृत्रिम बुद्धि ने सबसे जटिल कार्यों को भी आसान बना दिया है। मानव जीवन पहले कभी इतना आसान नहीं रहा, जो आज  Al के कारण संभव होय़ा है।

Artificial Intelligence का Use कहां किया जा रहा है?

मानव सभ्यता के हर  दैनिक जीवन में AI.

अब तक हमने जाना कि Artificial Intelligence Kya Hai? ,चलिए आगे हम इसकी उपयोगता पर एक नजर  ढ़ाल लेते है
 

स्मार्टफ़ोन का उपयोग हमारे दैनिक जीवन का एक जरूरि हिस्सा है। हम search bar के मदद से हमारे कई queries को खोजते हैं, जैसे कि कइ फ़ेवरेट संगीत या पकाने के लिए एक फ़ेवरेट नुस्खा, और वे एक विशाल सूची के भीतर से आपके सामने खुलके आते हैं। , क्या आपने इस पर कभी गमभीरता से सोचा कि यह कैसे होता है?  हां अब आपने सही सोचा हैं, यहां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इसके पीछे काम कर रहा है। 

यदि आप अपने आस-पास थोड़ा ध्यान से देखते हैं, तो आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले सभी स्मार्ट गैजेट आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ निर्मित होते हैं। यहां तक ​​कि फेसबुक, ट्विटर, जैसे सभी लोकप्रिय हर सोशलप्लेटफार्म  AI के साथ काम कर रहा है।

शिक्षा के क्षेत्र में AI. 

वर्तमान में शिक्षा के क्षेत्र में एआई का उपयोग छात्रों को बहुत लाभ पहुंचा रहा है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के उपयोग के साथ, कई शैक्षिक कार्यक्रमों को छात्रों को निकट आसान तरिको  से प्रस्तुत किया जा रहा है जोकि पहले अकल्पनीय और असंभव था। विदेशी भाषा सीखना-समजना हो या फिर भाषा का रूपांतरण यह सबी सुविधा अल कि ही देन है।

सीखने और प्रशिक्षण की इस नई पद्धति ने छात्रों के लिए व्यक्तिगत अनुभवों के द्वार खोले हैं।चिकित्सा विज्ञान,कंप्यूटर विज्ञान,इंजीनियरिंग, जैसे विभिन्न क्षेत्रों को सबीके निकट ले आए है।छात्र अब घर बैठे नए-नए तकनीक और ज्ञान को महसूस कर सकते हैं और सीख सकते हैं।

HEALTH CARE INDUSTRY में AI

HEALTH CARE INDUSTRY में AI का बहुत बड़ा योगदान है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने चिकित्सा उद्योग की पारंपरिक प्रक्रिया को हमेशा के लिए पूरी तरह से बदल दिया है। इस तकनीकी युग में हमारी मेडिकल जरूरतों पर बेहतर परिणाम पाने के लिए AI टेक्निक लागू किया जाता है। आजकल AI की शक्ति पर चिकित्सा विज्ञान पूरी तरह से गहरा गया है। यह मानव की तुलना में बहुत बेहतर और सटीकता देने मे सक्षम है।

Machine Learning एल्गोरिदम  कि उपयोग से Artificial Intelligence कुछ ही  मिनटो मे आपकी पूरी मेडिकल रिपोर्ट आपके हाथ में दे सकता है। यहां तक ​​कि एआई ने गंभीर से गंभीर सर्जरी भी की है और इस पर वे कई बार खुद को साबित भी किया है। कुल मिलाकर हम यह कह सकते हैं कि, Artificial Intelligence ,  Healthcare sector में आपने बेहतर services के लिए एक मील का पत्थर साबित होय़ा है।कई Healthcare कंपनियां हैं जो खुदको बेहतर बनाने और अपने ग्राहकों के लिए बेहतर services के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में निवेश कर रहे हैं ओर इसे आपना रहे है।

Entertainment Sector मे Al का प्रभाव।

कृत्रिम बुद्धिमत्ता के आगमन ने आज के मनोरंजन उद्योग को बहुत प्रभावित किया है और इस उद्योग को आधुनिक तरीके से दर्शकों तक पहुंचाया है। एआई की बदौलत आज का मनोरंजन बहुत खुला और विस्तृत है। Spotify, Netflix, Amazon prirne जैसी और अन्य मनोरंजन मीडिया के ,आधुनिक तकनीको कि उपयोग ने दर्शकों को बहुत प्रभावित किया है। मनोरंजन क्षेत्र में AI- पावर्ड सॉफ्टवेयर का उपयोग दर्शको को ओर अधिक बेहतर अनुभव देने में सहायक रहा है।आज के Cinema में विभिन्न तकनीकी प्रभावों, गतियों, अलग-अलग ध्वनि प्रभावों, रंग प्रभावों और खास कर 3 डी अनुभवो ने दर्शकों को मोहित कर दिया है।

व्यापार और उद्योग में AI.

कृत्रिम बुद्धिमत्ता की असाधारण सफलता से प्रभावित होकर आज कई नई कंपनियों ने कृत्रिम बुद्धिमत्ता में निवेश करने पर ध्यान केंद्रित किया है। इस तकनीक की विशेषताओं में खुद से सीखने और  स्वतंत्र निर्णय लेने कि काबिलियत ने इसे विशेष रूप से सबका चहीता  बना दिया है। विपणन, शिक्षा, स्वास्थ्य, बैंकिंग जैसी संस्थाएँ इस तकनीक अनगिनत  लाभ उठा रहा हैं।

service sector जैसे जटिल संगठनों को विशेष रूप से कृत्रिम बुद्धि के उपयोग से लाभ हुआ है। इस तकनीक का उपयोग  ग्राहकों को तेज़ सेवाएं देने में सक्षम बनाया  है। इसलिए नई कंपनियां तेजी से अपनी दैनिक जटिल समस्याओं को हल करने के लिए इस तकनीक को अपना रही हैं।

कृत्रिम बुद्धिमत्ता के असाधारण कौशल ने, सुरक्षा, योजना, संचार प्रणाली एवं सूची प्रबंधन, वित्तीय प्रबंधन, धोखाधड़ी का पता लगाने, आवाज़ नियंत्रण, स्वायत्त वाहनों और चिकित्सा निदान जैसे  जटिल काम को संभव बनाया हैं।

Transportation में AI.

परिवहन इतना बड़ा जटिल उद्योग है, विशेष रूप से हवाई परिवहन आज पूरी तरह से अल पर निर्भर है। इसकी बड़ी मात्रा में कामकाज और जटिल प्रक्रियाएं AI द्वारा संभाली जा रही हैं।ऑनलाइन टिकट बुकिंग से लेकर फ्लाइट टेक ऑफ, लैंडिंग शेड्यूल कंट्रोल, यह सब AI द्वारा संभाला जा रहा है। इसके अलावा, कृत्रिम बुद्धिमत्ता का उपयोग कर स्व-चालित विमान बनाने के नए तरीकों की खोज जारी है, और भविष्य की संभावनाएं लगातार विकसित हो रही हैं।

Advantages and Disadvantages of AI In Hindi.

कृत्रिम बुद्धिमत्ता के advantages कि बात कि जाए तो, इसके  बहुत बड़े- बड़े फाएदे हैं। उनमें से कुछ  ज़ैसे खोज इंजन पर दिखाई देने बाले ऑटो-खोज, या फिर  ईकामर्स प्लेटफार्मों पर किसी Product की खोजते होय़े  मिलने वाले स्मार्ट Suggestions Al कि advantages को ही दर्शाता है। 

Advantages

AI  के प्रमुख advantages कुछ इस प्रकार हैं: –

१).मानव द्वारा कि जाने वाली त्रुटि में कमी।
२).मनुष्य के बजाय मशीन जोखिम उठाता है।
३). 24 घंटे उपलब्ध होता है
४).डिजिटल असिस्टेंस।
६).तेज निर्णय लेना।
 

इन सभी advantages के बावजूद आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के कुछ नुकसान भी हैं। नीचे एआई की कुछ कमियां दि गई हैं।

Dis-advantages

१). निर्माण में उच्च लागत।
२). मनुष्य को अक्षम बनाना।
३). बेरोजगारी।
४). अभी तक भावनाओं का विकास का ना हौ पाना।

Future of AI In Hindi.

Artificial intelligence (AI) उन महान क्रांतियों में से एक है जो इस दुनिया के दिल में जगह ले चुका है, जिसे हम वर्तमान में अनुभव कर रहे हैं। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) एक एल्गोरिथ्म है जो मशीनों को पूर्व अनुभव से सीखने और नए इनपुट के मदद से मानव-संबंधी कामो को करना  संभव बनाता है। पिछले दस वर्षों में, कृत्रिम बुद्धिमत्ता ने मानव जाति के इतिहास में बहुत बड़ा बदलाव किया है। जैसे स्मार्टफ़ोन में वॉइस रिकग्निशन  की सुविधा को AI के उदाहरण के रूप में देखा जा सकता है। अगले दस वर्षों में, कृत्रिम बुद्धि पिछले पचास वर्षों की तुलना में मानव जाति के इतिहास में बहुत अधिक प्रगति लाएगा।हालांकि, स्पेस एक्स के संस्थापक, प्रसिद्ध भौतिक विज्ञानी Stephen Hawking और SpaceX के संस्थापक,Elon Musk के अनुसार, AI पर ओर अधिक शोध अगली दुनिया को अंधेरे में धकेल सकता है। उनके अनुसार, AI की अतिरिक्त वृद्धि पृथ्वी पर अगले विश्व युद्ध का कारण बन सकता है, जो मनुष्य / मशीन के बीच  होनी है।

AI के प्रमुख आविष्कार।

पिछलि दशक, Al कि समर्पित दशक माना जाता है। इस दशक में, मानव सभ्यता की दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों में कृत्रिम बुद्धिमत्ता का प्रभाव बढ़ी  है। अंतरिक्ष अन्वेषण से लेकर रोबोटिक्स तक, स्मार्टफ़ोन से लेकर सेल्फ-ड्राइविंग कारों तक यह सबी artificial intelligence ने हमे इस दशक में दिया है।

एआई कि अब तक के प्रमुख आविष्कार।

१). इमेजनेट (ILSVRC).

इमेजनेट लार्ज स्केल विजुअल रिकॉग्निशन एल्गोरिदम बड़े पैमाने पर ऑब्जेक्ट डिटेक्शन और इमेज वर्गीकरण के लिए मूल्यांकन करता है।(2010)

२). Xbox 360.

Kinect Xbox 360 Microsoft द्वारा विकसित एक होम वीडियो गेम कंसोल है। यह 3 डी कैमरा और इंफ्रारेड डिटेक्शन सिस्टम का उपयोग करके मानव शरीर की गति को ट्रैक कर सकता है। (2010)

३).Apple iOS(Siri).

Apple ने Apple iOS ऑपरेटिंग सिस्टम पर एक वर्चुअल सहायक सिरी(Siri) को लॉन्च किया है। सिरी एक प्राकृतिक-भाषा पर निर्भर करता  वॉयस कमांड  है जो यूजर्स को एक इंडिविजुअल एक्सपीरियंस देता है। (2011)

४).Google ने YouTube वीडियो से अप्रकाशित छवियों को पहचानने के लिए 16,000 प्रोसेसर के एक बड़े तंत्रिका नेटवर्क को प्रशिक्षित किया। (2012)

५). Microsoft Cortana.

Microsoft ने Cortana को virtual assistant के रुप मे जारी किया। (2014)

). Amazon created Amazon Alexa, developed into smart speakers as a personal assistant.

). मशीनि मानब (humanoid robot) सोफिया को हैनसन रोबोटिक्स द्वारा बनाया गया। वह धरती का पहला रोबोट नागरिक हैं। (2016)

८). Google ने BERT एल्गोरिथम विकसित किया। पहला द्विदिश, और एक अप्रस्तुत भाषा प्रतिनिधित्व करने बाला स्मार्ट डिटेक्टर। (2018)

निष्कर्ष। 

कृत्रिम बुद्धिमत्ता की उन्नति और प्रसार अभूतपूर्व दर से बढ़ रहा है। उम्मीद है कि, यह पिछले दशक की तुलना में आने वाले दशक में AI पर नई-नई खोज जारी रखेगा।

मुझे उम्मीद है कि आप इस लेख के माध्यम से Artificial Intelligence Kya Hai? Artificial Intelligence Ke Kya Fayde Hai? इसके बारे में सभी Important जानकारी प्राप्त करने में सक्षम रहे हैं और यह लेख एक बेहतर समझ देने में सक्षम रहा है। इस बारे में अधिक विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए इस ब्लॉग की सदस्यता लें

About The Author

BISWAJIT

Hi! Friends, this is Biswajit, the founder and author of 'DIGIPOLE HINDI'. He is interested in gathering valuable information related to digital marketing, such as affiliate marketing, blogging, earning money online, SEO, Adsense, technology, SEO tools, etc, and conveying the people in the form of articles.

Author:- I hope you will be able to get enough valuable information from this site and enjoy it. Thank you.

One thought on “Artificial Intelligence Kya Hai? Iske Kya Fayde Hai?”
  1. बढ़िया ब्लॉग! क्या आपके पास महत्वाकांक्षी लेखकों के लिए कोई सुझाव है?
    मैं जल्द ही अपनी साइट शुरू करने की उम्मीद कर रहा हूं, लेकिन मैं इस चीज को लेकर थोड़ा असमंजस में हूं। क्या आप वर्डप्रेस जैसे मुफ़्त प्लेटफ़ॉर्म शुरू करने या सशुल्क विकल्प चुनने की सलाह देंगे? यहाँ इतने सारे विकल्प हैं कि मैं पूरी तरह से अभिभूत हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *