आजकि इस डिजिटल निर्भर दुनिया मे लगवग हम सभी कंप्यूटर, स्मार्टफोन जैसी आधुनिक उपकरणो का वेधरक इस्तेमाल करते है। एक कंप्यूटर हमारे लिए जटिल से जटिल काम का तुरन्त समाधान करता है और हमे कोई तरीको से राहत पहुचाते है।

लेकिन सबाल ये है कि क्या ऐसी जटिल समाधानो को केवल एक कंप्यूटर ही एकेला करने मे सक्षम होता है या कोई और भी कोई शक्ति है जो इसके पीछे काम कर रहा होता है।

जि हाॅ आप विलकुल सही समझ रहै, मे आपसे सॉफ्टवेयर के बारे मे ही कहरहा हु। दरसल, एक सॉफ्टवेयर ही है जौ आपके कंप्यूटर या स्मार्टफोन को इतना सक्षम बनाता है।

हलांकी हममे से बहुत से लोग सॉफ्टवेयर के बारे मे कमोवेश जानते है, लेकिन क्या आप जानते है कि system software क्या है? और एक सिस्टम सॉफ्टवेयर आपके कंप्यूटर या स्मार्टफोन को कैसे संचालिन करता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर एक कंप्यूटर डिवइस के लिए कितना महत्वपूर्ण है। इस लेख मे मैं आपको system software से संबंधित उन सभी चिजो के बारे मे बताऊँगा जिसके बारे मे शायद आपने पहले कही देखा या सुना नही होगा। इसलिए, हमारे साथ वने रहै और इस लेख को पुड़ा पढ़ै।

System software क्या है?

सिस्टम सॉफ़्टवेयर वह है जौ आपके computer पर मौजुद सभी प्रकार के हार्डवेयर का संचालन और प्रबंधन करने का काम करता है। ये एक कंप्यूटर प्रोग्राम है जो आपके computer से लगै सभी हार्डवेयर उपकरणों को नियंत्रित करने या उन्है सक्षम बनाने के लिए एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर का संचालन करता है।

उदाहरण के लिए कंप्यूटर मेमोरी या स्टोरेज सिस्टम, ऑडियो और वीडियो सिस्टम, प्रिंटिंग सिस्टम आदि। सिस्टम सॉफ़्टवेयर आमतौरपर, अन्य एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर कि तरह उपयोगकर्ताओं द्वारा सीधे तौरपर एक्सेस नहीं किया जाता। यह कंप्यूटर के सभी गुटों के संचालन और प्रबंधन के लिए पिछे से काम करता है।

शायद अभी भी यह आपको भ्रमित कर रहा है और आपके लिए स्पष्ट नहीं है कि आखिर ये सिस्टम सॉफ़्टवेयर क्या है। कोई बात नही , चलिए इसे निचे कुछ और उदाहरण के साथ अधिक स्पष्टता से समझने का प्रयास करते है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के प्रकार उदाहरण के साथ

यह कंप्यूटर प्रोग्रामों की एक श्रेणी को संदर्भित करता है जो एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर के निष्पादन के लिए एक मंच प्रदान करता है और हार्डवेयर को ठीक से काम करने में सक्षम बनाता है।

यह हार्डवेयर और उपयोगकर्ता-स्तरीय सॉफ़्टवेयर के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करता है, संचार की सुविधा प्रदान करता है और कंप्यूटर सिस्टम के लिए आवश्यक सेवाएँ प्रदान करता है। सिस्टम सॉफ़्टवेयर के कुछ सामान्य उदाहरण हैं:

  • Operating System (OS): ऑपरेटिंग सिस्टम जिसे संक्षेप मे (ओएस) भी कहा जाता है जो पुरी computer system को चलाने का काम करता ते। माइक्रोसॉफ्ट विंडोज(MS Operating System), मैकओएस(mac) , लिनक्स, आईओएस(iOS) और एंड्रॉइड इसके प्रमुख उदाहरण हैं। यह सिस्टम कंप्यूटर पर होने बाले सभी हार्डवेयर के कार्यक्षमताओं , मेमोरी , और फ़ाइल आदि का प्रबंधित करता है और उपयोगकर्ताओं एक आसान इंटरफ़ेस प्रदान करता है।
  • Device Drivers: ड्राइवर कंप्यूटर सिस्टम के साथ इनपुट या बाहरी डिवाइस के रूप में कनेक्ट होने वाले डिवाइस को नियंत्रित और प्रबंधित करने के लिए मास्टर कमांड के तौरपर काम करता हैं, ताकि वे कंप्यूटर सिस्टम के साथ ठिक से सहयोग कर सकें।
  • Firmware: फ़र्मवेयर एक माइक्रोकोड कंप्यूटिंग प्रोग्राम है। यह कंप्यूटर उपकरणों को कंप्यूटर की कार्यप्रणाली के साथ सहयोग करने में मदद करता है। मूल रूप से, वे हार्डवेयर (Hardware Kya Hai? हार्डवेयर कितने प्रकार के होते हैं?) उपकरणों की मेमोरी में एम्बेडेड होते हैं। यह कैमरा, मोबाइल, नेटवर्क कनेक्टिविटी, प्रिंटर, राउटर और स्कैनर जैसे बाहरी उपकरणों को सुचारू रूप से काम करने में सक्षम बनाता है।
  • Utility Software: ये प्रोग्राम कंप्यूटर सिस्टम के प्रबंधन और रखरखाव में सहायता करते हैं। उदाहरणों में एंटीवायरस , डिस्क प्रबंधन उपकरण, डेटा बैकअप और सिस्टम अनुकूलन उपकरण शामिल हैं। यूटिलिटी सॉफ़्टवेयर उपयोगकर्ताओं को डेटा बैकअप, डिस्क डीफ़्रैग्मेन्टेशन और सिस्टम डायग्नोस्टिक्स जैसे कार्य करने में मदद करता है।
  • Language Translators: प्रोग्रामिंग भाषा अनुवादक ऐसी सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम हैं जो एक प्रोग्रामिंग भाषा में लिखे गए कोड या मेशिनी भाषा को दूसरी प्रोग्रामिंग भाषा में अनुवाद करने का काम करता हैं। प्रोग्रामिंग भाषा अनुवादकों के सामान्य उदाहरण कंपाइलर, इंटरप्रेटर और असेंबलर आदि हैं।
  • Boot loaders: ये वह सॉफ्टवेयर हैं जो स्टार्टअप के दौरान ओएस को इनिशियलाइज़ करते हैं। वे ऑपरेटिंग सिस्टम को स्टोरेज डिवाइस, जैसे हार्ड डिस्क या यूएसबी ड्राइव से मुख्य मेमोरी में लोड करते हैं, और नियंत्रण को ऑपरेटिंग सिस्टम में स्थानांतरित करते हैं।

सिस्टम सॉफ्टवेयर कैसे और क्या काम करता है?

इसका उपयोग कंप्यूटर को खुद से प्रबंधित और निष्पादित करने के लिए किया जाता है। यह कंप्यूटर की बुनियादी कार्यक्षमताओं को बनाए रखने के लिए पृष्ठभूमि के पिछे से चलता है और आपना काम करता है, ताकि उपयोगकर्ता किसी खास काम को पुरा करने के लिए उच्च-स्तरीय एप्लिकेशन चला सकें।

यह अपने आंतरिक और बाहरी उपकरणों के साथ कंप्यूटर को चलाने के लिए एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर को जीवन प्रदान करता है।

  • Hardware Management: यह प्रबंधन प्रणाली आपके कंप्यूटर में प्रयुक्त सभी हार्डवेयर संयोजनों के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करती है। आप अपने नेटवर्क से जुड़े प्रत्येक कंप्यूटर के कॉन्फ़िगरेशन और टैग की जांच कर सकते हैं। आप यह भी ट्रैक कर सकते हैं कि आपके नेटवर्क में कौन सा सॉफ़्टवेयर किस कंप्यूटर पर इंस्टॉल है।
  • Security and Protection: यह आपके कंप्यूटर को मैलवेयर या अन्य हानिकारक एक्सेस जैसे विभिन्न बाहरी खतरों से बचाके रखता है। एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर, फ़ायरवॉल और अन्य एन्क्रिप्शन उपकरण इसमें आपकी मदद करते हैं और आपकी डेटा प्राइवेसि वनाए रखता है।
  • System Stability and Efficiency: System Stability से मतलब ये है कि computer system से जुड़ै सभी resources आपस मे बिना किसी टकरार के और बिना किसी रोरटोक के सुचारु रुप से काम करने को दशा॔ता है। यह इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं क्योकि ये आपकी computer system की रखरखाव को प्रभावित करता है और रखरखाव पर होने बाले लागतो को नियंत्रित करता है।
  • Software Development: यह डेवलपर्स को आवश्यक उपकरणो और लाइब्रेरी के साथ एक अनुकुल मंच प्रदान करता है ताकि डेवलपर्स application software create कर सके या उनमे सुधार कर सके। जैसेकि Programming interfaces या APIs, compilers और debuging जो डेवलपर्स को एक कुशल और असरदार एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर लिखने में मदद करता है।

Read Also

HDD क्या है?HDD ka full form क्या है?

Malware meaning in hindi | मैलवेयर क्या है?

सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर के बीच क्या अंतर है?

निचे सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर के बीच मुख्य अंतरो को एक टेविल के रुप मे दिखाया गया है:

CriteriaSystem SoftwareApplication Software
उद्देश्यकंप्यूटर हार्डवेयर चलाने के लिए एक मंच प्रदान करता है।उपयोगकर्ता के विशिष्ट उद्देश्यों को पूरा करता है, जैसे वर्ड प्रोसेसिंग या गेमिंग।
कार्यक्षमताकंप्यूटर हार्डवेयर संसाधनों का प्रबंधन और नियंत्रण करता है।उपयोगकर्ता की आवश्यकताओं के अनुसार विशेष कार्य करता है।
उदाहरणऑपरेटिंग सिस्टम, डिवाइस ड्राइवर, उपयोगिताएँ।वर्ड प्रोसेसर, वेब ब्राउज़र, ग्राफ़िक डिज़ाइन सॉफ़्टवेयर।
निर्भरताकंप्यूटर के कामकाज के लिए आवश्यक है.संचालन के लिए सिस्टम सॉफ्टवेयर पर निर्भर।
उपयोगकर्ता संपर्कअंतिम-उपयोगकर्ता द्वारा न्यूनतम प्रत्यक्ष संपर्क।कार्यों को पूरा करने के लिए अंतिम उपयोगकर्ता के साथ सीधे संपर्क करता है।
अनुकूलनकम अनुकूलन योग्य क्योंकि यह सामान्य उपयोग के लिए है।उपयोगकर्ता की प्राथमिकताओं और आवश्यकताओं के आधार पर अत्यधिक अनुकूलन योग्य।
जटिलताअत्यधिक जटिल, अक्सर उपयोगकर्ताओं के लिए पहुंच योग्य नहीं।तुलनात्मक रूप से कम जटिल, और उपयोगकर्ता के अनुकूल संचालन के लिए डिज़ाइन किया गया।
विकासडेवलपर्स और इंजीनियरों द्वारा विकसित किया जाता है।डेवलपर्स और प्रोग्रामर द्वारा विकसित किया जाता है।
उपयोग का दायराकंप्यूटर संचालन एवं प्रबंधन के लिए आवश्यक।विभिन्न कार्यों में उपयोगकर्ता अनुभव और उत्पादकता को बढ़ाता है।
अपडेटसुरक्षा और कार्यक्षमता के लिए नियमित अपडेट।बग फिक्स और अन्य सुविधाओं के लिए लगातार अपडेट।

FAQs


Q) सॉफ्टवेयर के 3 मुख्य प्रकार क्या हैं?

A) कंप्यूटर को नियंत्रित करने के लिए सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाता है। वे विभिन्न प्रकार के हैं जो कंप्यूटर को चलाने मे उपयोग किया जाता है। इनमे से तिन प्रमूख सॉफ्टवेयर इस प्रकार है: 1. सिस्टम सॉफ़्टवेयर, 2. उपयोगिता सॉफ़्टवेयर और 3. एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर।

Q) सिस्टम सॉफ्टवेयर के उदाहरण क्या हैं?

A) विंडोज़, मैकओएस, एंड्रॉइड और आईओएस इसके मुख्य उदाहरण हैं। ये सभी ऑपरेटिंग सिस्टम हैं जो अलग-अलग कंप्यूटिंग डिवाइस चलाते हैं। जब डिवाइस चालू होता है तो ये सभी रैम में लोड होने और हार्ड ड्राइव को प्रबंधित करने के लिए जिम्मेदार होते हैं।

Q) सिस्टम सॉफ्टवेयर का उपयोग क्या है?

A) यह कंप्यूटर से जुड़ने बाली सभी हार्डवेयर संसाधनो का प्रबंधन और नियंत्रण करने के लिए उपीयोग किया जाता है।ये कंप्यूटर से जुड़े हार्डवेयरस को सुचारु रुप से काम करने और सिस्टम की पुरी बातावरन को सुरक्षित रखने मे मदद करता है।

About The Author

Author and Founder digipole hindi

Biswajit

Hi! Friends I am BISWAJIT, Founder & Author of 'DIGIPOLE HINDI'. This site is carried a lot of valuable Digital Marketing related Information such as Affiliate Marketing, Blogging, Make Money Online, Seo, AdSense, Technology, Blogging Tools, etc. in the form of articles. I hope you will be able to get enough valuable information from this site and will enjoy it. Thank You.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *