Google का मालिक कौन है?who owns google in hindi? Internet से जुडी शायद ही एसा कोई व्यक्ति होगा जो google नाम ने परिचीत न हो। गुगल अब लोगो के लिए इतना महत्वपूर्ण बन चुका कि एक साधारण उपयोगकर्ता के लिए भी इस के बिना आपनी दिन कि शुरुबात करना नमुमकिन सा लगता है।

Google आज लगवग इनटारनेट जगत का अकेला मालिक बना होया है।आज दुनिया कि लगवग आदी आबादि smartphone मे सिमटकर रह गई है। निन्द से जागने से लेकर फिर से निन्द मे जाने तक लोग आज स्मार्टफोन पर आश्रित है। लेकिन यह स्मार्टफोन वेचारा भी तब तक किसी काम का नही रहता जब तक गुगल से उसे उरज़ा न मिले।

खर, गुगल की जरुरतो से तो सभी लोग बाकिफ हे। लेकिन क्या कभी आपने जानने कि कौशिश की गुगल को कोन चलाता हे ,यानि Google का मालिक कौन है? ओर यह किस देश का है।

तो, इस article मे आज हम गुगल कि जन्म से लेकर अब तक की सारि इतिहास को जानेंगे, साथ ही ये भी जानेंगे कि इसे कोन चलाता हे और Google का मालिक कौन है?तो चलिए, पहले गुगल क्या है? संक्षेप में इससे जुडि थोडीसी जानकारी ले लेते है।

गुगल क्या है?

Google LLC दुनिया की सबसे बड़ी बहुराष्ट्रीय तकनीकी उत्पाद और इंटरनेट से संबंधित सेवा प्रदाता कंपनी है, जिसमें ऑनलाइन विज्ञापन तकनीक, खोज इंजन, क्लाउड कंप्यूटिंग, सॉफ़्टवेयर, हार्डवेयर और कई अन्य संबंधित उत्पाद शामिल हैं। कंपनी की स्थापना 1998 में सर्गेई ब्रिन और लैरी पेज द्वारा की गई थी।

इसकी उत्पत्ति से इस कंपनी का नाम BackRub था। इसकी विकास सन 1996 में सर्गेई ब्रिन और लैरी पेज द्वारा शुरू किया गया था, जब वे स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में Ph.D के दौरान एक प्रोजेक्ट के रूप में खोज इंजन पर काम करते थे।

“बैकरब” के बाद इस सर्च इंजन का नाम बदल के ‘गूगोल’ कर दिया गया था। कंपनी का डोमेन नाम, google.com, 15 सितंबर, 1997 को पंजीकृत किया गया था। टेक दिग्गज का मुख्यालय “Googolplex” माउंटेन व्यू, कैलिफोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित है।

Google को दुनिया भर में ज्यादातर एक खोज इंजन के रूप में जाना जाता है जो आपको अपने कंप्यूटर, स्मार्टफोन या यहां तक ​​​​कि एक स्मार्ट टीवी के द्वारा ब्राउज़ करके जानकारी जुटाने के लिए दुनिया में कहीं से भी लगभग सब कुछ खोजने की सुबिधा देता है।

उदाहरण के तौरपर, अगर आपको किसी विशेष विषय पर कोई खोजबिन करने की आवश्यकता है, तो आप इस खोज इंजन के जरिए उन्है खोज सकते हैं। इस खोज इंजन का शक्तिशाली एल्गोरिदम आपके परिणामों को एक सेकंड के भीतर प्रदर्शित करेगा।

Read Also:-

Web Hosting क्या है? इसे कैसे खरीदें? Web hosting in hindi

OCR क्या है? What is OCR in Hindi? OCR Full Form in Hindi

Google का मालिक कौन है
who owns google in hindi?Google का मालिक कौन है

अगर आप Google के बारे में और अधिक जानना चाहते हैं, जैसेकि, ‘गूगोल’ शब्द बाद मे ‘गूगल’ कैसे बना? तो, इस लिंक पर क्लिक करें- “गूगल क्या है?”

Google का मालिक कौन है?(who owns google in hindi)

Google LLC, कंपनी की स्थापना 1998 में सर्गेई ब्रिन और लैरी पेज द्वारा की गई थी, जैसा कि आप इस article के शुरूबात मे ही जान चुके हैं। लेकिन वर्ष 2015 में, कंपनी ने अपने स्वामित्व मे कुछ बदलाव किए गए हैं। जैसाकि, हम सभी जानते है गुगल का सबसे बड़ा उत्पाद इंटरनेट सर्च इंजन है।

लेकिन, इसके अलाबा भी गुगल का कुछ अन्य लोकप्रिय उत्पाद भी हैं जैसेकि: – कैलेंडर सॉफ्टवेयर वेब ईमेल, स्प्रेडशीट, वर्ड-प्रोसेसिंग, फोटो-एडिटिंग सॉफ्टवेयर, क्लाउड स्टोरेज और कई अन्य, व्यवसाय भी इसमे शामिल हैं।

दरसल,वर्ष 2015 में, कंपनी ने अपने प्रबंध निकाय में कुछ सुधार किये और एक नए प्रबंध संरचना में सहमति व्यक्त की, और Google अब Alphabet Inc. नामक एक बड़े तकनीकी परिवार का हिस्सा बन गया।अब, Alphabet Inc. गुगल और इसकी कई पूर्व सहायक कंपनियों की मूल कंपनी बन गई है।

Google का मालिक कौन है?
Google का मालिक कौन है?(Image source)who owns google in hindi

Read Also:-

Google Assistant kya hai?Ok गूगल क्या है?कैसे काम करता है?

Wi-Fi 6 क्या है? इसका स्पीड कितना है? पुरी जानकारी Hindi Me

लेकिन अब सबाल यह हे कि, तो क्या गुगल ने अब कंपनी से आपना स्वमित्ब खो दिया, और अगर ऐसा हे तो, अब Google का मालिक कौन है? who owns google in hindi?-असल मे, इस सबाल कि जबाव पाने के लिए पहले आपको कंपनी कि प्रबंधन नीतियां , शेयर और शेयरधारकों कि जटिल प्रक्रियाओ को समजना होगा।

Alphabet Inc. के शेयर और शेयरधारको कि संरचना

भलेही अब , गुगल और इसकी सहायक कंपनियों का Alphabet Inc. मे बिलए हो गया हो ,लेकिन फिर भी Google के दो सह-संस्थापक, सर्गेई ब्रिन और लैरी पेज, Alphabet Inc. में शेयरधारकों, बोर्ड के सदस्यों और कर्मचारियों की नियंत्रक के रूप में अभी भी बने हुये है। चलिए इसे थोड़ीसि गहरई मे जा कर समझते हे कि कैसे गुगल अभी भी मुल कंपनि Alphabet Inc. की नियंत्रक कि भुकिका के बना रहा।

दरसल , कंपनी ने आपने शेयर और शेयरधारको कि संरचनाओ को Voting power के हिसाब से (A class, B class और C class) इन तिन अलग-अलग श्रेणीओ मे बाट रंखे है। जहा:-

  • A class= One Voting power/share
  • B class= Ten Voting power/share
  • C class= Non-Voting power/share

‘Class A’ एक normal किसम का शेयर हे जोकि कंपनी के प्रबंधन और नियंत्रन प्रणाली में प्रति शेयर एक भोट का हक रखता है और साथही इसके साथ सार्वजनिक रूप से कारोबार किया जा सकता है।

‘Class B’ एक special किसम का शेयर हे जो suprime voting कि ताकत से लैस हे और हर एक शेयर Class A शेयर कितुलना मे दश गुणा ज्यादा voting कि ताकत रखता है। ये एक non-publicly traded शेयर है जिसका मालिकाना हक केबल Google के दो सह-संस्थापक तक ही सिमीत है।

‘Class C’ एक बिना वोटिं वाले शेयर, जो केवल एक equity के तौर पर काम करता है। इस शेयर का कंपनी के प्रबंधन और नियंत्रन प्रणाली मे कोई बागीदारी नही हे और सार्वजनिक रूप से इसके साथ कारोबार भी किया।

इस तरिके से इन्है तिन हिस्सो मे बटा गया। चलिये अब जरा यह भी देख लेते हे कि उन मे से किसके हिस्से मे कितना शेयरआया और किसके हिस्से मे कितना Voting power बना।

Read Also:-

Search Engine क्या है?10 best search engine lists in Hindi

Wi-Fi 6 क्या है? इसका स्पीड कितना है? पुरी जानकारी Hindi Me

Alphabet Inc.के शेयरधारकों की सूची

कंपनी के शेयरधारकों की सूची निचे दिए गए कुछ इस प्रकार है

  • Larry Page
  • Sergey Brin
  • Fidelity
  • Vanguard
  • BlackRock
  • Eric E. Schmidt
  • Other shareholders

Alphabet Inc के निदेशकों की चुनाव में भाग लेने नामांकित व्यक्तिओ कि सुची

  1. Larry Page (Co-Founder)
  2. Sergey Brin (Co-Founder)
  3. Sundar Pichai (Chief Executive Officer, Alphabet and Google)
  4. John L. Hennessy (Former President of Stanford University)
  5. Frances H. Arnold (Linus Pauling Professor of Chemical Engineering, Bioengineering and Biochemistry at California Institute of Technology)
  6. L. John Doerr (General Partner and Chairman of Kleiner Perkins)
  7. Roger W. Ferguson Jr. (Former President and Chief Executive Officer of TIAA)
  8. Ann Mathe (Former Executive Vice President and Chief Financial Officer of Pixar)
  9. K. Ram Shriram (Managing Partner of Sherpalo Ventures)
  10. Robin L. Washington (Former Executive Vice President and Chief Financial Officer of Gilead Sciences)

Read Also:-

HTML Kya hai?10 important Hypertext markup language in Hindi.

Digital Marketing Kya Hai?Ise Kaise Kare?

“As nominees for election as members of our Board at the Annual Meeting. At the Annual Meeting, ten directors will be elected to our Board. Alan R. Mulally, who is currently serving on our Board, is not a nominee for election at the Annual Meeting and his term as a director will end at the Annual Meeting. We thank Alan for his extraordinary contributions over many years.”

MANAGEMENT PROPOSALS TO BE VOTED ON ALPHABET (2022 PROXY STATEMENT 60)

चलिए,अब निचे दिए गए इस टेबल के मदद से समझने कि कौशिश करे कि Google का मालिक कौन है? who owns google in hindi? कीसके पास कुल कितनी संखा में कम्पांनी का शेयर मौजुद हे, कीसके पास कितनी voting power हे और इनकी प्रतिशत दर क्या है।

Name of ShareholdersClass A ShareClass B shareClass C shareTotal shareTotal % of shares
Larry Page02020 405.7%
Sergey Brin01919385.5%
Fidelity16010263.7%
Vanguard Inc.22022446.4%
BlackRock19020395.5%
Eric E. Schmidt04481.2%
Other shareholders242325550071.9%
TOTAL SHARES 0f Alphabet Inc(as on 2018)29947350695100%
who owns google in hindi(Google का मालिक कौन है?)

Read Also:-

Google AdSense Kya Hai? AdSense कैसे काम करता है?

Website kya hai? कैसे काम करता है? types of website in hindi

उपर दिए गए इस टेबल के माध्धम से आपको एक आन्दाझा मिल गया होगा कि किसके पास कम्पांनी का कितना शेयर मौजुद है। चलिए इसे अब और एक टेबल के द्वारा समझते है किनके पास कम्पांनी को नियत्रित करने के लिए voting कि कुल कितनी संखा भौजुद है , इनकी ताकत क्या है और इनका प्रतिशत दर क्या है।

Name of Executive, Directors and OwnersTotal Class A SharesTotal Class B Shares% of Total Shares% of Total Voting Powers
Larry Page019,494,22443.926.2
Sergey Brin018,566,63241.824.9
Sundar Pichai11,3780**
Ruth M. Porat1,403o**
Prabhakar Raghavan0000
Philipp Schindler0000
Kent Walker0000
Frances H. Arnold0000
L. John Doerr145,5941,117,4472.51.5
Roger W. Ferguson Jr.0000
John L. Hennessy2,10700*
Ann Mather83600*
Alan R. Mulally0000
K. Ram Shriram134,03700*
Robin L. Washington0000
BlackRock, Inc.20,471,730002.7
Eric E. Schmidt396,3353,100,4087.04.2
Vanguard Inc.22,972,466003.1
who owns google in hindi (Google का मालिक कौन है?)PROXY STATEMENT on Alphabet Inc. as on April 5, 2022

तो,इस टेबल पर दिए गय statement को देखने के बाद आपको अब पुरा idea मिल गया होगा कि,Google का मालिक कौन है?तो, जैसा कि आप देख सकते हैं कि अधिकांश मतदान शक्ति Google के सह-संस्थापकों लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन के अधीन हैं, जिनमें से प्रत्येक का कुल voting कि प्रतिशत संखा 26.2 + 24.9 = 51.1% है।

तो, Google का मालिक कौन है?who owns google in hindi -इस हिसाब से स्पष्ट तोर पर कहा जा सकता हे कि, गुगल या इसकी parent company Alphabet Inc. का स्वमित्व एबम नियत्रण पुरी तरह गुगल के co-founders Larry Page एवम Sergey Brin के पास है।

Read Also:-

Google Analytics in hindi?GA- 4 क्या है?यह कैसे काम करता है?

Online Paise Kaise kamaye? 10 best ideas in Hindi

क्या Larry और Sergey आजीवन Alphabet Inc के नियंत्रक बने रहंगे ?

5 अप्रैल, 2022 तक के आंकड़ों के अनुसार, Google के दो सह-संस्थापकों के पास अबतक मतदान का 51.1% अधिकार है।लेकिन, अगर Google के 2014 की वार्षिक रिपोर्ट के देखे, तो लैरी और सर्गेई इन दोनो का मिलाकर कुल वोटिंग पावर 55% थे। दरसल, लैरी और सर्गेई को अल्फाबेट के बाहर अपने अन्य प्रोजेक्ट चलाने के लिए जितनि ज्यादा investment की जरुरत होगा, उनकी वोटिंग शक्ति उतनी ही कम होता गाएगा।

लेकिन, अब सबाल ये उठता हे कि, जब संस्थापकों के पास C class शेयर मौजुद हे तो, बिना वोटिंग अधिकार बाले इन शेयरो को क्यो काम नही लिया जाता? इनके लिए यह भी खास मुमकिन नही हैं क्योकि दोनो ही तरीके से इनके वोटिंग अधिकार घटने बाले है। दरसल कम्पानी के साथ एक सहमति के दौरार ये तय किया कि, अगर कभी भी B शेयर C शेयरों से अधिक होगा तो वे अधिक शेयर स्वचालित रूप से A शेयरों में परिवर्तित हो जाएंगे और जिनकी voting value भी A शेयरों के रुप मे माना जाएगा यानि (One share= one voting power)।

तो, इसका मतलब ये बनता हे कि अगर संस्थापक कभी भी किसी कारण अपनी हिस्सेदारी का एक हिस्सा घटाना चाहते हैं, तो साथही उन्हें अपनी मतदान शक्ति भी कम करने होंगे।लेकिन बही अगर इसे दुसरे तरीके से देखा जाए तो ये सहमति संस्थापको को आपनी वोटिंग अधिकार को बनाए रखने मे एक रक्षाकबज के रुप मे काम करता है।

लेकिन इन सबके बाबजुद भी, अगर उनकी मतदान शक्ति 50% से कम होता हे तब भी उनके virtual नियंत्रण बने रहेंगे।

इसके अलावा भी, अगर लैरी और सर्गेई का संयुक्त voting का हिस्सा 34 प्रतिशत से कम हो जाता है, तो उन्हें केवल आपने Class C शेयरों की ही वेचने की अनुमति होगी। सहमति का यह प्रावधान उन्हें अपने हिस्से को 34 प्रतिशत के स्तर पर भी लंबे समय तक कम्पानी के नियत्रक के तौर पर बनाए रखने में सक्षम रखता है।

इसके अलावा, गगल के पूर्व सीईओ Eric Schmidt, के पास भी 5 प्रतिशत वोटो कि हिस्सेदारी हे जिनको मिलाकर कुल वोटिं प्रतिशत (34+5=39)% वनता है।इसलिए वोटिंग अधिकार 34% होने पर भी लैरी और सर्गेई का Alphabet Inc पर मजबूत नियंत्रण बना रहेगा। तो, मुझे लगता हे अब आपको इस बात से आन्दाजा लग गया होगा की, Google का मालिक कौन है?(who owns google in hindi?)

Read Also:-

What is PGP Encryption in Hindi?PGP Encryption Network Security in Hindi.

Online Business kaise kare?online business in hindi

Google LLC, Alphabet Inc की सहायक कंपनी क्यों बनी?

लैरी के अनुसार (जैसा कि https://abc.xyz/ पर उल्लेख किया गया है) लैरी और सर्गेई ने एक साथ मिलकर यह कंपनी बनाई थी जोकि एक पारंपरिक कंपनी नहीं है और नही एसा करने इनका कोई इरादा है।लेकिन , हमेशा उन्है अपने मौजूदा व्यवसायों से हटके कुछ और अधिक करने कि प्रयास है, जो हो सकता हे किसी किसी को अजीब लगे।

तबके मौजूद संसाधनों के साथ इन्हौने कई महत्वपूर्ण चीजो को सार्थक करने का प्रयास किया जो उस समय एक पागलपना सा लगता था।लेकिन, उन पागलपन बाले चीजों में से कई के अब एक अरब से भी ज्यादा उपयोगकर्ता बन चुके हैं, और इनमे Google मानचित्र, YouTube, Chrome और Android जैसे product शामिल है।उनका कहना यह हे कि, वे वहाँ तक भी नहीं रुकना चाहते हैं और अभी भी उन चीजों को करने की कोशिश कर रहे हैं जो दूसरे लोग इसे पागलपना समझते हैं। लेकिन वे इसके बारे में बहुत उत्साहित हैं।

इनका मानना है कि लंबे समय कंपनिको एक ही तरह के कामो को लेकर उलज कर नही रहना चाहिए और समय के साथ प्रासंगिक बने रहने के लिए थोड़ा असहज होने की जरुरत है, खासकर जब बात प्रौद्योगिकी उद्योग कि हो जहां क्रांतिकारी विचारो कि भरमार है।

और कंपनी इस दिशा मे अच्छा कर भी रहा है।लेकिन, इनका मानना है कि, इन कामो के लिए और अधिक अनुकुल एबम सहज बातावरण कि जरुरत है जिससे उनके काम बादित न हो। और इसलिए वे एक नई कंपनी का निमा॔न कर रहे हैं, जिसका नाम Alphabet है और वे इसे अपने सक्षम साथी की मदद से चलाने के लिए उत्साहित है।

क्या होगा अगर Google के दो संस्थापक में से एक की मृत्यु हो जाती है?

यह विलकुल शेयर की बिक्री के जैसा समान होगा। जब दो संस्थापकों में से एक की मृत्यु हो जाती है, तो ऐसे मे उनका शेयर स्वचालित रूप से साधारण क्लास यानि Class A शेयरों में परिवर्तित हो जाएंगे।

Class B शेयरों को उनकी अतिरिक्त मतदान क्षमतायों को बिना खोए विरासत के तौर पर नहीं मिल सकता है।

लेकिन, ऐसे मामलो मे Class B शेयरधारकों मे उनके मतदान का अधिकार हस्तांतरित किया जा सकता हैं। और अगर ,वे ऐसा करते हैं, तो साधारण शेयरों में रूपांतरण तुरंत नहीं, बल्कि नौ महीने बाद होगा।

Conclusion

उम्मीद हे कि इस लेख को परने बाद Google का मालिक कौन है? इसकी पुरी जानकारी आपको मिल गया होगा।अगर हमारी द्वारा उपलध्ब कि जाने बाली जानकारी आपको helpful लगता तो, और Google का मालिक कौन है?who owns google in hindi के बारे मे कोई सुझाब हो तो कृपया हमे comment करे और कृपया हमारे इस साईट को subscribe करे।

About The Author

Author and Founder digipole hindi

Biswajit

Hi! Friends I am BISWAJIT, Founder & Author of 'DIGIPOLE HINDI'. This site is carried a lot of valuable Digital Marketing related Information such as Affiliate Marketing, Blogging, Make Money Online, Seo, AdSense, Technology, Blogging Tools, etc. in the form of articles. I hope you will be able to get enough valuable information from this site and will enjoy it. Thank You.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *