REST API क्या है? REST API error कैसे ठीक करें(wordpress)

REST API क्या है? अगर आप एक वैबसाइट उनार है और अनलाइन पर एक ब्लॉग या वैबसाइट चलाते है तो हो सकता है REST API encounters an error इस तरह की कोई गंभीर समस्या आपको देखने को मिला होगा याफिर आगे आपको दिखने को मिल सकते है।

अगर आपने आपना वैबसाईट वर्डप्रेस कंटेंट मेनेजमेंट सिस्टम के साथ डेवलप किय है तो REST API error का सामना आपको अक्सर करना हो सकता है।

वेसे देखा जाए तो एक वैबसाइट उनार के लिए एक गंभीर समस्या तो है क्योकि API error आपकी साइट की visibility को गंभीर रुप से प्रभावित कर सकता, वल्की यु कह सकते है कि एक तरह से REST API error आपकी साइट को आनलाइन दुनिया से पुरी तरह गायव कर सकते है।

जिसके चलते न सर्च इंजन आपकी साइट को ढुढ पाऐगा न ही पैजो को क्रॉल या इंडेक्स कर पाऐगा और परिणाम स्वरुप आपकी साइट खौज परिनामो पर दिखाइ नही देगा। ऐसे मे एक डेवलपार को हयार करने के अलाबा आपके पास और कोई उपाए नही रहता।

लेकिन फिकर न करे इस लेख मे में आपको बताऊंगा कि कैसे आप REST API error को बिना किसी डेवलपार को हयार किए आप खुद से इसे FIX कर सकते है। लेकिन वशरते REST API क्या है? और REST API कि त्रुटिओ के बारे मे आपको ठिक से जानना होगा।

API क्या है?

एपीआई जिसका फुल फॉर्म है एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफ़ेस है। API एक ऐसा तंत्र हैं जो दो या दो से अधिक सॉफ्टवेयर घटकों को एक प्रोटोकॉल सेट का उपयोग करके एक दूसरे के साथ संवाद करने में सक्षम बनाते हैं। इन्टरनेट पर आप जो भी वैब एप्लीकेशन का उपीयोग करते वे दरसल अलग अलग मेशिनि लेंगुयेज के साथ वने होते है।

जो एक वैब एप्लीकेशन मे अलग अलग भागो पर काम करने के लिए जिम्मेदार होते है और उन सभी अलग अलग कामो का सयोजन आपको परिनामस्वरुप दिखाई देता है। और इस दौरान आपस मे एक दूसरे के साथ संवाद करने का काम एपीआई करता है।

उदाहरण के लिए मान लि जिए, मौसम के रुझान जानने के लिए आपने अपने फोन पर एक वैब एप्लीकेशन इनष्टल किया है। अब सिस्टम आपको दैनिक मौसमी डेटा प्रदान करने के लिए आपके फोन पर मौजुद मौसम ऐप के एपीआई प्रणाली के माध्यम से उस सर्वर से संवाद करता है और आपको आपके फोन पर दैनिक मौसम अपडेट दिखाता है।

REST API क्या है?

Representational State Transfer जिसे संक्षेप में REST कहा जाता है, वैब एक्सेस का एक प्रभावी वास्तुशिल्प शैली है जो इन्टरनेट सेवाओं को पुरा करने के लिए उपयोग किया जाता है। REST API बिना किसी जटिल प्रोसेसिंग के एक सरल और लचीले तरीके का पालन करते हुये वेब सेवाओं को आप तक पहुँचाने का काम करता है।

यह तकनीक आमतौर पर एक सिंपल ऑब्जेक्ट एक्सेस प्रोटोकॉल के तहत काम करता है जिसके कारण डेवलपर इस तकनीक को अन्य तकनीक की तुलना में ज्यादा पसंद करते है और आपने प्रोग्रामिंग के लिए अधिक उपीयोग करता है। क्योंकि REST कम बैंडविड्थ का उपयोग करता है, और तुलनाम्क अधिक सरल एवंम लचीला है जो इसे अधिक उपयुक्त बनाता है।

आमतौर पर, इसका उपयोग इन्टनेट के द्बारा किसी वेब सेवा या जानकारी देने या लेजाने के लिए किया जाता है। हलांकी, REST API संचार के लिए केवल HTTP प्रटोकल या अनुरोध का उपयोग करता है। तो यह तो हो गई REST के बारे मे एक संक्षिप्त अवलोकन। चलिए अब एपीआई क्या होता है इसे भी संक्षेप मे थोड़ा सा जान लेते है?

REST API कैसे काम करता है?

REST किस तरह से काम करता है इसको समझने के लिए, हमें पहले इसके कुछ प्रमुख तत्वो के बारे मे थोड़ी सि जानकारी लने कि जरुरत होगी जैसेकि:

Client:- दरसल, क्लाइंट वह व्यक्ति है जो एक वेब ब्राउज़र या कोई अन्य प्रोग्राम या सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन के माध्यम से किसी डिजिटल Resources कि मांग करता है। एक क्लाइंट जब कोई जानकारी प्राप्त करने या उस एप्लिकेशन के भीतर कुछ बदलाव या सुधार करना चाहते है

तो वे इसके लिए एक API Key के साथ सर्वर को अनुरोध करता है और सर्वर का authentication system उस Key का इस्तेमाल क्लाइंट को authenticate करने के लिए करता है ताकि सर्वर इस बात को सुनश्चित कर सके कि क्लाइंट द्बारा किया गया अनुरोध वैध है और एप्लिकेशन के भीतर कोई भी बदलाव या सुधार करने कि इजाजत दि जा सकती है।

Resource:- ये एक डिजिटल डकोमेन्ट है जो एक पेज, फोटो या एक पोस्ट के रुप मे भी हो सकते है। अब जब कोई user डिजिटल डकोमेन्ट तक पहुच ना चाहते तो क्लाइंट एक API Key के साथ उस सर्वर को एक अनुरोध भेजता है जहा पर ये डकोमेन्ट मौजुद है।

अब सर्वर अनुरोध की वैधता कि जाच करता है यानि उस API Key का मिलान करता है और जाच कि प्रक्रिया पुरी हो जाने पर क्लाइंट को उन दस्तावैजो को JSON (JavaScript Object Notation) या XML (Extensible Markup Language) फरमेट मे सोप देता है जिनकी वे मांग कर रहे है।

Server:- सर्वर एक अत्यधिक सशक्त कंप्यूटिंग मशीन है जहां डेटा को एक क्रम में संग्रहीत किया गया है। जब कोई क्लाइंट किसी एप्लिकेशन का उपयोग करते हुये एक अनुरोध करता है तो दरसल यह अनुरोध इसी सर्वर तक ही पहुचता है और इसमें ही वे संसाधन होते हैं जो क्लाइंट आपने डिवाइस पर प्राप्त करना चाहता है।

ऐसे मे एपीआई ग्राहकों को अपने डेटाबेस में सामग्री तक सीधी पहुंच प्रदान किए बिना उनके साथ संवाद करने मदद करता है।

REST API जिसे “RESTful” API के तौरपर भी जाता है जोकि पुरे API सिस्टम का एक छोटा सा हिस्सा है।यह एक खास प्रकार का API है जो REST दिशानिर्देशों का एक पुरी सेट को फलो करता है।

क्या होता है जब REST API में कोई error आती है?

तो संक्षेप मे कहा जाए तो एक क्लाइंट के तौरपर वेब यूआरएल के साथ सर्वर पर HTTP GET या POST या PUT या DELETE आदि के रूप में अनुरोध भेज सकते है जिसमे एक user ID मौजुद होता है जिसके द्बारा क्लाइंट या user कि permisibility को detact किया जाता है और process complete हो जाने पर endpoint request के आधार पर backend डेटा को frontend डेटा के तौरपर HTML, XML, Image, या JSON फाईलो मे आपको यानि क्लाइंट को भेज दिया जाता है।

अब आप आपने हिसाब से इनमे सुधार कर सकते है, वदलाव कर सकते है। चाहे तो आप इनमे Image, videos या और कोई अन्य element add और उन्है save या Delete कर सकते है।

reset api encounter an error

लेकिन ऐसे मे मान लि जिए, सर्वर अगर आपको access देने मे denye कर दे तो क्या हो। जाहिर है एक वैबसाइट के उनार के तोरपर आप निराश हो जाऐंगे। क्योकि ऐसे मे न तो आप आपने वैब साइट पर कोइ सुधार कर सकते है और न ही कोई नई पोष्ट create कर सकते है। हलांकी इस तरह की हालात हमेशा नही होती।

लेकिन सच तो यह है कि जिस पर गुजरी हो केवल यही इस पीढा को समझ सकता है। खेर चलिए आगे बड़ते है और इसके लिए कोन कोन सि चिजे जिम्मेदार होती है इसे भी संक्षेप मे समझ लेते है ताकि समस्या के जड तक पहुचना आपके लिए आसानि हो।

सबसे आम REST API त्रुटियाँ?

अब तक आपने इतना तो समझ ही गए होंगे कि क्लाइंट और सर्वर के बीच संचार स्थापित करने के लिए REST API सबसे अधिक उपयोग किया जाने वाला तकनिक है। हालाँकि, इसमे कभी कभी कुछ अनचाही त्रुटिया भी दिखाई दे सकते हैं । और डेवलपर्स को इसे वनाए रखने के लिए कोई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।

यहा सामान्य प्रकार के REST API त्रुटियों के बारे मे वताया गया है

400 Bad Request Error:- यह एक आम REST API त्रुटि है जो कि आपको अक्सर दिखने को मिल जाते है। यह दरसल 400 error आपको तब दिखने को मिलता है जब सर्वर क्लाइंट के द्वारा किए गए अनुरोध को ठिक से समझ नहीं पाता है। आमतौर पर. अमान्य डेटा पैरामीटर, गुम या गलत HTTP हेडर, गलत सिंटैक्स, या प्रोग्रामिंग के साथ होने बाली किसी समस्या को इसके लिए जिम्मेदार माना जाता है।

उदाहरण के लिए

           https://www.example.com/api/resource?param1=value1&param2=

जैसेकि इस यूआरएल में, आप देख सकते है “parameter2” में एक value missing है, जिसके कारण यह यूआरएल एक bad request error हो सकती है।

401 Unauthorised Error:- 401 त्रुटि को आमतौर पर अनधिकृत त्रुटि के रूप में जाना जाता है। यह तब होता है जब कोई सर्वर मानता है कि क्लाइंट क्रेडेंशियल अधिकृत पहुंच का एक प्रयास है। गलत उपयोगकर्ता नाम या पासवर्ड, अनधिकृत हेडर संरचना और गलत एक्सेस अनुमतियाँ ऐसी त्रुटि उत्पन्न होने के लिए जिम्मेदार हैं।

403 Forbidden Error:- यह आमतौर पर तब होता है जब क्लाइंट अनुरोधित संसाधन तक पहुंचने में असमर्थ होता है। गलत पहुंच अनुमतियां, अनुपलब्ध या गलत प्राधिकरण हेडर, या कोई अन्य बाहरी रोकथाम जो एपीआई के अंतिम बिंदुओं तक पहुंच को अवरुद्ध कर रहा हो।

404 Not Found Error:- यह तब होता है जब क्लाइंट द्वारा किए गए अनुरोध संसाधन के रुप मे सर्वर पर उपलब्ध न हो । ग़लत URL, अनुपलब्ध डेटा पैरामीटर, या ग़लत अनुरोध इस त्रुटि का कारण हो सकते हैं।

उदाहरण के लिए

      https://www.example.com/nonexistent-page

इस URL में, “nonexistent-page” यानि एक ऐसा पेज जो सर्वर पर मौजूद ही नहीं है, तो इस पेज तक पहुंचने का प्रयास करते समय आपको 404 त्रुटि दिखाई दे सकता है।

408 Request Timeout Error:- ऐसा तब होता है जब सर्वर क्लाइंट के अनुरोध का जवाब देने में बहुत अधिक समय लेता है।

500 Internal Server Error:- यह त्रुटि तब होती है जब सर्वर को किसी असमान्य स्थिति का सामना करता है जिसके चलते सर्वर को क्लाइंट के अनुरोध पूरा करने मे समस्या होती है। सर्वर-साइड त्रुटियां, गलत डेटा पैरामीटर या गलत अनुरोध इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं।

उदाहरण के लिए

      https://www.example.com/api/process-data

जैसा कि आप देख पा रहे होंगे की इस यूआरएल में, “प्रोसेस-डेटा” एंडपॉइंट तक पहुंचने से सर्वर-साइड प्रोसेसिंग समस्या के कारण आंतरिक सर्वर त्रुटि उत्पन्न हो सकती है।

504 Gateway Timeout Error:- ऐसा तब होता है जब गेटवे या प्रॉक्सी के रूप में कार्य करने वाला सर्वर अपस्ट्रीम सर्वर से प्रतिक्रिया प्राप्त करने या संसाधित करने में बहुत लंबा समय लेता है।

507 Insufficient Storage Error:- यह अक्सर तब होता है जब सर्वर अपर्याप्त संग्रहण क्षमता के कारण अनुरोध को पूरा करने के लिए आवश्यक प्रतिनिधित्व को संग्रहीत करने में असमर्थ होता है। इस समस्या को हल करने के लिए, आपको सर्वर प्लान को अपग्रेड करना होगा जो अधिक स्टोरेज और बैंडविड्थ प्रदान करता है ताकि यह अतिरिक्त पेज ट्रैफ़िक का भार उठा सके।

उदाहरण के लिए

     https://www.example.com/upload-large-file

जैसेकि इस URL में आप देख पा रहै होंगे, सर्वर के पास अनुरोध को संभालने के लिए पर्याप्त स्थान न होने पर एक बड़ी फ़ाइल को अपलोड करने के प्रयास के लिए 507 त्रुटि दिखा सकता है।

508 Loop Detector Error:- ऐसा अक्सर तब होता है जब सर्वर को आपकी वेबसाइट पर बहुत अधिक मात्रा में लूप या यूआरएल पुनर्निर्देशन मिलते हैं जो अनुरोधित संसाधन को प्रस्तुत करने से रोकते हैं।

REST API में error क्यों आती है?

आम तौर पर, इन त्रुटियों के होने के कई कारण हो सकते हैं। लेकिन ज्यादातर मामलों में खराब सर्वर संरचना यानी कम बजट वाली होस्टिंग सेवाएं, सीमित स्ट्रेज और बैंडविड्थ क्षमता, आपकी वेबसाइट में अविश्वसनीय स्रोत और बेकार के प्लगइन्स इंस्टॉल करना आदि हो सकते है। साथ ही खराब कोडिं या प्रोग्रामिंग बाले थीम भी इसके लिए काफी हद तक जिम्मेदार हो सकते है जिसके कारण इस तरह की स्थिति उत्पन्न होती है।

WordPress पर REST API error कैसे Fix करें?

इन त्रुटियों को ठीक करने के लिए, सबसे पहले यह सुनिश्चित करें कि आपके पास एपीआई एंडपॉइंट पर अनुरोध करने के लिए पर्याप्त अनुमतियाँ हैं। इसके अतिरिक्त, आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप सही प्राधिकरण हेडर का उपयोग कर रहे हैं और यह पूरी तरह से काम कर रहा है और साथ ही कोई भी बाहरी प्रतिबंधात्मक तत्व एपीआई एंडपॉइंट तक पहुंच को अवरुद्ध नहीं कर रहा है।

1. सुनिश्चित करें कि आप सर्वर पर अनुरोध भेजते समय सही एंडपॉइंट यूआरएल का उपयोग कर रहे हैं और साथ ही वैध डेटा पैरामीटर भेज रहे हैं।

    2. आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप सर्वर पर जो अनुरोध भेज रहे हैं उसका सिंटैक्स सही है। अतिरिक्त जानकारी प्राप्त करने के लिए सर्वर या होस्टिंग प्रदाता द्वारा भेजे गए त्रुटि संदेशों की निगरानी करें। और यदि समस्या सर्वर साइड से हो रही है तो उनके आंतरिक सिस्टम में होने वाली अंतर्निहित समस्या को हल करने के लिए उनसे संपर्क करें।

    3. चेक करें कि आपका इंटरनेट कनेक्शन ठीक से काम कर रहा है और आप अपने प्रमाणित कंप्यूटर उपकरणों के साथ अनुरोध भेज रहे हैं, साथ ही आपका आईपी पता किसी भी सुरक्षा प्रणाली के माध्यम से अवरुद्ध नहीं हो रहा है।

    4. यूआरएल के पैरामीटर को दोबारा जांचें और सुनिश्चित करें कि यह सही है, फिर संसाधन पृष्ठ को पुनः लोड करें।

    Pro tips on How to fix REST API error in WordPress:

    हलांकी उपरोक्त वर्णित इन सुझाबो को आपनाने के लिए आपके पास कमोवेश टकनिकल नलेज का होना जरुरी है। अगर आप इस क्षेत्र मे नए है तो इन पर अमल करना आपके लिए थौड़ा कठीन हो सकता है। तो इस बात को मध्य नजर रखते हुये में आपके साथ खुद का आजमाया हुया एक आसान तरकिव साझा करता हु।

    अगर आपने आपनी वर्डप्रेस साइट पर कोई बैकअप प्लगइन इंस्टॉल किया हुया है तो आपके लिए इस काम को पुरा करना ओर भी आसान होने बाला है। आपको केवल उस बैकअप फाईल को आपने कंप्यूटर पर डाउनलोड कर लेना है और सर्वर पर दुवारा अपलोड कर देना है।

    इसके अलाबा आप चाहे तो आपनी service provider की मदद भी ले सकते याफिर आप इसे खुद से भी बही से डाउनलोड कर सकते है। लेकिन इस बात का जरुर ध्यान रंखे कि आपका बैकअप फाईल errors शुरु होने के जितना हो सके तुरन्त पेहले बाला हो ताकी किसी भी डेटा या कन्टेन्ट को आप मिस न करे।

    निचे बैकअप फाईल को आपके सर्वर पर पुनः इंस्टाल करने के steps दिए गए है:

    Log In to your Hosting AccountClick on Files folderClick on BackupsSelect Files backupsSelect backups DateClick on Next ButtonClick on Download All Files

    डाउनलोड प्रक्रिया पुरी हो जाने के बाद अब आपको इसे सर्वर पर अपलोड कर देना है। अपलोड कि प्रक्रिया पुरी हो जाने के बाद आपने wordPress Dashboard पर दुवारा Login करे, अब REST API से जुड़े सभी errors आपको गायव मिलेंगे।

    Conclusion

    उम्मीद है REST API से जुड़े सभी errors के बारे अब आपको पुरी जानकारी मिल गई गोगी। इस लेख के जरिए आप पुरी तरह जान गए होंगे कि REST API errors क्या है वे कभ और क्यो आता है। साथही आपके wordPress Dashboard पर इस तरह की errors दिखने को मिलते है तो आप इन्है कैसे Fix कर सकते है। और अगर आप इन्है तुरन्त Fix करना चाहते तो मेरे द्बारा बताए गए तरीके को भी आजमा सकते है।

    Read Also

    Application software क्या है?कितने प्रकार के होते है

    WordPress में Google Analytics को कैसे इनस्टॉल करें?

    Digital Signature Kya Hai? Digital Signature In Hindi?

    Free Cloudflare CDN के साथ वर्डप्रेस साइट को कैसे जोड़ें?

    SSL Certificate Kya Hai? Types Of SSL Certificate In Hindi

    WordPress वेबसाइट को Google Search Console से कैसे जोड़ें?

    Digiboxx क्या है?भारत का पहला क्लाउड स्टोरेज (मुफ़्त 20GB)

    About The Author

    Author and Founder digipole hindi

    Biswajit

    Hi! Friends I am BISWAJIT, Founder & Author of 'DIGIPOLE HINDI'. This site is carried a lot of valuable Digital Marketing related Information such as Affiliate Marketing, Blogging, Make Money Online, Seo, AdSense, Technology, Blogging Tools, etc. in the form of articles. I hope you will be able to get enough valuable information from this site and will enjoy it. Thank You.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *