Social Media क्या है? सोशल मीडिया के प्रकार, फायदे और नुकसान

इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले लोगों में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जो आज Social Media प्लेटफॉर्म से दूर हो।इसमें कोई शक नहीं है कि इसने लोगों से जुड़ने, संवाद करने, जवाब देने और एक-दूसरे के साथ ऑनलाइन जानकारी साझा करने के हमारे तरीके को पूरी तरह से बदल दिया है।

चाहे फेसबुक हो या इंस्टाग्राम, ट्विटर (जिसे अब “X” के नाम से जाना जाता है) हो या लिंक्डइन, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने उस परंपरा को बदल दिया है जिससे हम व्यक्तिगत और पेशेवर दोनों तरह से बातचीत करते हैं। मीडिया प्लेटफॉर्म जहां लोग बातचीत करते हैं और अपने निजी विचार और राय व्यक्त करते हैं।

लेकिन आप सोशल मीडिया के बारे में क्या जानते हैं? या सोशल मीडिया वास्तव में क्या है? इस लेख में, हम सोशल मीडिया की अवधारणा, इसके उद्भव के साथ-साथ इसके महत्व और मानव समाज पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानेंगे। हम इसके फायदे और नुकसान पर भी ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करेंगे। तो इस लेख को अंत तक ध्यान से पढ़ें और हमारे साथ बने रहें।

Social Media क्या है?

सोशल मीडिया ऑनलाइन संचार का एक ऐसा मंच है, जहाँ हम अपने समाज में घटित होने वाली वास्तविक कहानियों से खुद को जोड़े रख सकते हैं। यह एक डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म है, जहाँ लोग अपने विचारों को दूसरों के साथ सूचनात्मक तरीके से साझा कर सकते हैं। यह लोगों को सामूहिक रूप से एक-दूसरे से जुड़कर अपने मन की बात कहने का एक व्यापक अवसर प्रदान करता है।

social media kya hai

यह उपयोगकर्ताओं को अपनी विचार प्रक्रियाओं को समान विचारधारा वाले लोगों के साथ साझा करने और लोगों के विचारों पर प्रतिक्रिया प्राप्त करने की अनुमति देता है। विचारों को व्यक्त करने के प्रारूप टेक्स्ट फ़ॉर्म, इमेज, वीडियो, ग्राफ़िक्स या कई अन्य डिजिटल फ़ॉर्मेट में हो सकते हैं, जो इंटरनेट की दुनिया में उपलब्ध हैं।

लोग अलग-अलग रणनीतिक लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए Social Media से जुड़ते हैं और उसका उपयोग करते हैं। कुछ लोग अपने समुदाय को व्यापक बनाने, व्यवसाय रणनीति को आगे बढ़ाने के लिए इससे जुड़ सकते हैं, या अन्य उपयोगकर्ता केवल मनोरंजन और सुचना के लिए इससे जुड़े हो सकते हैं।

सोशल मीडिया कैसे काम करता है?

वैसे तो सोशल मीडिया को कई अलग-अलग रूपों में देखा जा सकता है, लेकिन ये मूल रूप से ऑनलाइन चलने वाली वेबसाइट या ऐप हैं। अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म अपनी अलग-अलग खूबियों के लिए जाने जाते हैं, लेकिन मूल रूप से सभी का उद्देश्य एक ही है यानी लोगों को जोड़ना और उनके विचारों को प्रस्तुत करना, जहाँ कुछ का उद्देश्य छोटा या व्यापक हो सकता है।

उदाहरण के लिए, ट्विटर जो अब “X” बन गया है, अपने उपयोगकर्ताओं को ट्वीट नामक छोटे संदेश पोस्ट करने की अनुमति देता है। यह वास्तविक समय में विचार, राय, समाचार और अन्य जानकारी साझा करने की अनुमति देता है। यहाँ उपयोगकर्ता अन्य ट्वीटर को फ़ॉलो कर सकते हैं और उनके ट्वीट को लाइक, रीट्वीट और रिप्लाई करके उनसे जुड़ सकते हैं।

वही अगर Pinterest कि बात कि जाए तो यह Facebook और Instagram से काफी अलग है। हलांकी यह भी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की तरह ही है लेकिन इसकी कार्य प्रक्रिया बाकीओ से थौड़ा हटके है। जहा Facebook और Instagram जैसी प्लेटफॉर्म पर लोग टेक्ट से लेकर विडिउ तक कन्टेट के रुप मे पावलिश कर सकते है बही Pinterest के मामले मे पिन का उपीयोग किया जाता जो एक ईमेज के रुप मे होता है जोकि कलात्मक तरीके से लोगो के भावनाओ को उजागर करने का काम करता है।

विलकुल Facebook, Instagram की तरह ही इसमे कमेंट और सवाल जबाव कर सकते हैं इहा तक की अपने पसंदीदा पिनर को फ़ॉलो भी कर सकते हैं। जैसे लोग Facebook से पैसे कमाने के अलग अलग तरीके खोज लेते है ठिक ऐसे ही Pinterest पर भी इस प्रकार के कोई तरीके उपलब्ध हैं। तो कुल मिलाकर कहने का मतलब ये है कि बाले ही वे स्वरुप मे एक दुसरे से अलग दिखते हो लेकिन इनके मकसत एक जैसा ही है।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के प्रकार

Social Media के कई अलग-अलग प्रकार उपलब्ध हैं। लोग अपनी अलग-अलग ज़रूरतों और रुचियों के साथ इनसे जुड़ते हैं। कुछ लोग इन्हें तुरंत सूचना के स्रोत के रूप में जोड़ते हैं और कुछ लोग इन्हें चर्चा मंच के रूप में इस्तेमाल करते हैं। जहाँ अलग-अलग रुचियों वाले लोग अपनी-अपनी रुचियों के साथ अलग-अलग समूहों में शामिल होते हैं।

लेकिन एक ऐसा समुदाय भी है जो डिजिटल मार्केटिंग और किफायती विज्ञापन के अपने उद्देश्य को पूरा करने और अपने व्यवसाय के प्रभाव को बढ़ाने के लिए सोशल मीडिया से जुड़ता है ताकि उन्हें व्यापक दर्शकों से जुड़ने का अवसर मिले। सोशल मीडिया के कुछ लोकप्रिय प्रकारों के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है।

सोशल नेटवर्क

सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म दुनिया को आपस में जोड़े रखने का काम करता हैं। लगभग सभी क्षेत्रों के लोग अपनी रुचि के आधार पर ग्रुप में शामिल हो सकते हैं या अपने खुद के ग्रुप बना सकते हैं।

उपयोगकर्ता अपने ग्रुप में लोगों को शामिल करने के लिए अपने विचार यहाँ साझा करते हैं और समान रुचि वाले उपयोगकर्ता धीरे-धीरे इन ग्रुप में शामिल होते हैं। आप नियमित रूप से विषय से संबंधित सामग्री बना सकते हैं, जैसे फ़ोटो, वीडियो आदि अपलोड करना साथ ही ग्रुप के साथ चर्चा में भाग लेना।

इससे धीरे-धीरे आपकी प्रतिष्ठा और उपयोगकर्ताओं के बीच आपकी स्वीकार्यता बढ़ेगी। इस तरह, आप अपने विचारों को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचा पाएंगे, जो अंततः आपकी व्यक्तिगत इच्छा को प्राप्त करने में आपकी मदद करेंगे। फेसबुक, ट्विटर (अब एक्स है), इंस्टाग्राम, लिंक्डइन इसके कुछ उदाहरण हैं।

चर्चा मंच

इस मंच का उपीयोग सवाल जवाब के लिए किया जाता है। आमतौरपर उपयोगकर्ता यहा पर आपनी समस्या से जुड़ी सबाल पुछते और किसी जानकार ब्याक्ती के द्बारा दिए जाने बाली जबाव का अपेक्षा करते है। लोग यहा सबाल जबाव के माध्यम से आपने विचारों का आदान प्रदान करते है।

खाताधारी इर ब्याक्ती यहा आपना सबाल पुछ सकते और कोई भी खाताधारी उपयोगकर्ता जिन्है उस विषय के उपर परियाप्त जानकारी है वे उस पर आपना विचार ब्यक्त करता है। अगर आपका विचार acceptable और ईमानदारी बाला हो तो लोगो के विच आपकी विश्वसनीयता बढ़ती है और आप आपने विचारो के साथ लोगो के चहीते बन जाते है। Reddit, Quora इस प्रकार के प्लेटफॉर्म का वड़ीया उदाहरण है।

इमेज-शेयरिंग प्लेटफ़ॉर्म

इमेज शेयरिंग प्लेटफॉर्म सोशल मीडिया का एक ऐसा माध्यम है, जहां फोटो, इलस्ट्रेशन या ग्राफिक्स के रूप में कंटेंट शेयर किया जाता है। यहां यूजर अपने विचारों को कलात्मक तरीके से तस्वीरों में पिरोकर लोगों के सामने पेश करता है, जिससे कंटेंट को एक अलग अंदाज मिलता है। हालांकि, कुछ सोशल प्लेटफॉर्म फोटो के अलावा वीडियो पोस्ट करने की भी सुविधा देते हैं। Instagram, Flickr, Google Photos इसके प्रमुख उदाहरण है।

सोशल बुकमार्किंग नेटवर्क

यह एक ब्राउज़र-आधारित टूल है जहाँ आप किसी वेबपेज को टाइटल टैग के साथ सेव कर सकते हैं। जहाँ यूजर उन टैग को फॉलो करके इन साइटो तक आसानि से पहुँच सकते है। यह एक ऐसी प्रक्रिया है जहाँ आप अपने सोशल मीडिया पोस्ट को अपने ब्राउज़र में सेव करने के बजाय इन बुकमार्किंग प्लेटफ़ॉर्म का उपयोग कर सकते हैं।

आप बाद में किसी भी इंटरनेट कनेक्टिंग डिवाइस के माध्यम से उन तक पहुँच सकते हैं। इन्फ्लुएंसर अक्सर इनका व्यापक उपीयोग करते ताकी उन प्लेटफ़ॉर्म पर अपने रचनात्मक दिमाग और विचारों को फिर ताजा कर सके या उनमे कोई सुधार कर सके। सोशल मीडिया बुकमार्किंग नेटवर्क के उदाहरण हैं Digg, Pocket, Delicious, और Slashdot

ब्लॉगिंग और प्रकाशन नेटवर्क

ब्लॉगिंग अब ऑनलाइन खुद को अभिव्यक्त करने का सबसे शक्तिशाली तरीका बन गया है। कई ब्लॉगर अपने विचारों या ज्ञान के एक विशिष्ट बंडल को दूसरों के साथ साझा करने के लिए शौक के तौर पर ब्लॉगिंग करते हैं।

जबकि, कुछ लोग एक विशिष्ट इरादे के साथ गंभीरता से पेशेवर रूप से ऐसा करते हैं। ब्लॉगिंग कितनी शक्तिशाली है आप इसकी कल्पना इस बात से कर सकते हैं कि , इससे केवल व्यक्ति ही नहीं जुड़ा नहीं है, बल्कि कई बड़ी कॉर्पोरेट कंपनियां भी अपने ब्रांड के साथ ऑनलाइन अपनी उपस्थिति बनाने के लिए और अपने Network Marketing को वल देने के लिए इस तरीके का उपयोग करते हैं।

ब्लॉगिंग और प्रकाशन नेटवर्क आपको ब्लॉगिंग करने का अवसर देते हैं, भले ही आपने अपना खुद का प्लेटफ़ॉर्म स्थापित न किया हो। अगर आप जानना चाहते हैं कि आप अपनी खुद की वेबसाइट कैसे बना सकते हैं, तो आप हाइलाइट किए गए लिंक पर क्लिक करके इस लेख को पढ़ सकते हैं। ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म के उदाहरण हैं Blogger, Tumblr, Weebly और Medium आदि।

सोशल मीडिया शॉपिंग नेटवर्क

सोशल शॉपिंग ईकॉमर्स साइटो सेअलग है जहाँ उपयोगकर्ता किसी तय उत्पाद के लिए सीधे तोरपर छानविन के लिए जाते है और उत्पादो की खरीदारी करते है। लेकिन सोशल शॉपिंग के मामले मे वे अलग होते है, क्योकि ज्यादातर उपयोगकर्ता यहा शॉपिंग के इरादे से नही आते बल्की आकर्षक सामग्री को फलो करते हुये वे इहा पर आते है।

हलांकी Instagram और Facebook जैसे कुछ सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म अलग से उत्पादो को सहेजने के लिए पैज बनाने कि सुबिधा प्रदान करता है। जहा लोगो को उत्पाद से संबंधित लेख प्रकाशित कर वुलाया जाता है और उत्पाद पसंद आने पर उन्है खरिदा जाता है। इसके अलाबा खाता धारी आपना एफिलिएट लिंक पोस्ट के माध्यम से कमिशन प्राप्त कर सकते है।

वीडियो होस्टिंग प्लेटफ़ॉर्म

यह एक ऐसा प्लेटफ़ॉर्म है जहाँ क्रिएटर MP4 या ऐसे ही दूसरे वीडियो फ़ॉर्मेट में अपना कंटेंट बनाते और प्रकाशित करते हैं, ताकि उसे होस्ट करके विज़िटर के सामने पेश किया जा सके। स्वतंत्र क्रिएटर, संगीतकार, फ़िल्म निर्माता, डिजिटल न्यूज़ मीडिया हाउस और अन्य लोग इन मीडिया नेटवर्क पर भाग ले सकते हैं।

यह एक ही प्रयास में बहुत से दर्शकों तक वीडियो स्ट्रीम करने का एक तेज़ और किफ़ायती तरीका है। कई व्यवसाय अपने लक्ष्यों को पूरा करने के लिए इन्हें एक ऑनलाइन टूल के रूप में इस्तेमाल करते हैं। व्यवसाय नए ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए पेड विज्ञापनों (CPC मॉडल) में भाग लेते हैं। वे पैसे देकर अपने कंटेंट में उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए प्रभावशाली लोगों को प्रोत्साहित भी करते हैं। इन प्लेटफ़ॉर्म के उदाहरण हैं YouTube, Vimeo, Dailymotion, Instagram, आदि।

सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान

सोशल मीडिया के कई फायदे होने के बावजूद इसके कई नुकसान भी हैं। यहाँ दोनों को उदाहरण के तौर पर दिया गया है:

फायदेनुकसान
1. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लोगों को भौगोलिक बाधाओं की किसी भी परेशानी के बिना दुनिया भर में आसान संचार / बातचीत करने की सुविधा प्रदान करते हैं। वे लोगों को दोस्तों, परिवार, सहकर्मियों और यहां तक ​​कि अपनी पसंदीदा हस्तियों से जुड़े रहने में मदद करते हैं।1. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के प्रति अत्यधिक लगाब बच्चो के अध्ययन और बडो के कामो को बुड़ी तरह से प्रभाबित करता है जिससे उत्पादकता में भारी कमी आता है।
2. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर निरंतरता के कारण, उपयोगकर्ता सभी घटनाओं के बारे में तुरंत जानकारी एकत्र करता है, जिससे दुनिया भर में हो रही घटनाओं के बारे में जानकारी रखना आसान हो जाता है।2. कभी-कभी अपरिपक्व जानकारी, फर्जी खबरें और दुर्भावनापूर्ण इरादे से फैलाए गए वायरल पोस्ट लोगों को भ्रमित और गुमराह कर सकते हैं और साथ ही उपयोगकर्ताओं के विश्वास को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।
3. लिंक्डइन, एक्स, फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लोगों को अपनी उपलब्धियों को साझा करने और अपने विचारों को व्यापक दर्शकों के सामने प्रस्तुत करने में मदद करते हैं। इस तरह वे लोगों के बीच प्रभाव पैदा करने में सक्षम होते हैं और सही समय पर उन्हें अपने अभियानों में शामिल करने में सफल होते हैं।3. सोशल मीडिया के अत्यधिक और असुरक्षित उपयोग से व्यक्तिगत जानकारी चोरी होने का खतरा बढ़ जाता है, जो भविष्य में आपके लिए कई अप्रत्याशित समस्याएं पैदा कर सकता है।
4. सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट के ज़रिए चविसो घन्टे सूचना, देनिक समाचार और मनोरंजन उपलब्ध कराता हैं। जिसके चलते लोग सोशल मीडिया से जुड़कर दुनिया कि हर कोने से जानकारी जुटा पाना सम्भब हो जाता है।4. सोशल मीडिया का अत्यधिक और अंधाधुंध उपयोग आपके काम में रुचि, सामाजिक मेलजोल, काम पूरा करने पर बुरा असर डाल सकता है। यह चिड़चिड़ापन और खराब रवैये का कारण भी बन सकता है।
5. ग्राफिक डिजाइनिंग से लेकर फ्रीलांसर तक, डिजिटल मार्केटिंग से लेकर मार्केटिंग मैनेजमेंट जैसे प्रोफेशनल कोर्स यूट्यूब, फेसबुक, इंस्टाग्राम और कई अन्य लोकप्रिय वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म को नियमित रूप से फॉलो करके घर बैठे पूरे किए जा सकते हैं।5. जो लोग सोशल मीडिया पर बहुत ज़्यादा सक्रिय रहते हैं, उन्हें अक्सर दूसरे प्रतियोगी उनका मनोबल गिराने के लिए ट्रोल करते हैं। इससे मानसिक अलगाव हो सकता है और अगर आघात गहरा हो जाए, तो उन्हें मनोचिकित्सक की मदद भी लेनी पड़ सकती है।
यह तालिका सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग करने के फायदे और नुकसान को दर्शाती है

Conclusion

इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि सोशल नेटवर्किंग हमारी आधुनिक इच्छाओं को पूरा करने में हमारी मदद करती है। भले ही हमें इसके कितने भी नुकसान नज़र आएं, लेकिन जमीनी हकीकत यही है कि लोगों ने इसे अपनी आदत बना लिया है और शायद आने वाली पीढ़ी इससे और भी गहराई से जुड़ जाए।

ऐसे में हमें इसके नियंत्रित इस्तेमाल के बारे में सोचने की ज़रूरत हो सकती है। ताकि इसके बुरे प्रभावों को दरकिनार किया जा सके और सिर्फ़ इसके फ़ायदों को अपनाया जा सके। आप इसके बारे में क्या सोचते हैं, हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और हमसे जुड़े रहने के लिए इस ब्लॉग को सब्सक्राइब भी करें।

About The Author

Author and Founder digipole hindi

Biswajit

Hi! Friends I am BISWAJIT, Founder & Author of 'DIGIPOLE HINDI'. This site is carried a lot of valuable Digital Marketing related Information such as Affiliate Marketing, Blogging, Make Money Online, Seo, Technology, Blogging Tools, etc. in the form of articles. I hope you will be able to get enough valuable information from this site and will enjoy it. Thank You.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *